देवोत्थान एकादशी से बजने लगेगी ‘शहनाई’, ये हैं शुभ मुहुर्त

कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी 11 नवंबर को है। इसी दिन से मांगलिक कार्य शुरू हो जाएंगे। देवोत्थानी एकादशी के दिन सर्वार्थ सिद्धि योग और अमृत सिद्धि योग में पूजन अर्चन होगा।

९ नवम्बर। कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी 11 नवंबर को है। इसी दिन से मांगलिक कार्य शुरू हो जाएंगे। भारतीय ज्योतिष परिषद के अध्यक्ष केए दुबे पद्मेश के मुताबिक देवोत्थानी एकादशी के दिन सर्वार्थ सिद्धि योग और अमृत सिद्धि योग में देवोत्थानी एकादशी के दिन पूजन अर्चन होगा। इस दिन तुलसी जी का पूजन अर्चन करना चाहिए।

प्रबोधिनी एकादशी को देवोत्थान एकादशी और देवउठनी एकादशी भी कहा जाता है। इस तिथि के बाद ही शादी-विवाह आदि शुभ कार्य प्रारम्भ होने लगते हैं। इस एकादशी को कार्तिक स्नान करने वाली महिलाएं तुलसी जी का शालिग्राम से विवाह संपन्न करती हैं। विधि-विधान से खूब गाजे-बाजे के साथ तुलसी वृक्ष से शालिग्राम के फेरे एक सुंदर मंडप के नीचे डाले जाते हैं। इसी दिन से ‘पंचभीका’ व्रत भी प्रारम्भ होता है, जो पांच दिन तक निराहार (निर्जला) रह कर किया जाता है। यह धर्म, अर्थ, काम, मोक्ष के लिए किया जाता है।

देवोत्थान एकादशी व्रत का फल एक हजार अश्वमेघ यज्ञ और सौ राजसूय यज्ञ के बराबर होता है। इस दिन पवित्र नदियों में स्नान व भगवान विष्णु के पूजन का विशेष महत्व है। पुण्यादि करने से इसका महत्व और बढ़ जाता है। इस व्रत को करने से जन्म-जन्मांतर के पाप क्षीण हो जाते हैं तथा जन्म-मरण के चक्र से मुक्ति मिलती है। इस दिन द्राक्ष, ईख, अनार, केला, सिंघाड़ा आदि ऋतुफल भगवान विष्णु को अर्पण करना चाहिए। इसके बाद पादोदक (चरणामृत) ग्रहण करना चाहिए।

इन तिथियों में मुहूर्त

आचार्य अमरेश मिश्र के अनुसार नवंबर माह में 11,12,15,16,21, 23,24,25,26, 27,28 व 29 को विवाह के शुद्ध मुहूर्त हैं। इसी तरह दिसंबर माह में एक, तीन, चार, आठ, नौ, 12 व 13 को मांगलिक कार्य किए जा सकते हैं। जनवरी माह में 16,17,18,20,22,23,24,25,26,27,31 जनवरी को मांगलिक कार्य के लिए उत्तम मुहूर्त है। फरवरी में एक, दो, पांच, छह, सात, 11,12,13,14,15,16,17,18, 19,20,21,23 व 28 फरवरी को मांगलिक कार्य होंगे। मार्च माह में एक, चार, पांच, छह 10,11,12,13 को मांगलिक कार्य संपन्न होंगे।1

सर्वोत्तम मुहूर्त

आचार्य दीपक पाण्डेय के मुताबिक 11,16,24 नवंबर, चार, आठ, नौ, 12 दिसंबर, 16,17,23 जनवरी, पांच, छह, 15,18,19 , 27 व 28 फरवरी और 13 मार्च के दिन विवाह के लिए सर्वोत्तम तिथि है।jagaran

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz
%d bloggers like this: