देशको मजबूत बनाने के लिए संविधान संशोधन हो सकता हैः प्रधानमन्त्री

काठमांडू, १५ मार्च । प्रधानमन्त्री केपीशर्मा ओली ने कहा है कि देश को मजबूत और एकताबद्ध बनाने के लिए संविधान संशोधन हो सकता है । संघीय संसद और प्रदेश संसद के सदस्यों को सम्मान खातिर बुधबार बालुवाटा में आयोजित चियापान कार्यक्रम मे बोलते हुए प्रधानमन्त्री ओली ने कहा कि आवश्यकता और औचित्यक के आधार में संविधान संशोधन हो सकता है । उन्होंने आगे कहा– ‘लेकिन देश को नोक्सान पहुँचाने के लिए और राष्ट्रीय अखण्डता को अनदेखा कर संविधान संशोधन नहीं हो सकता ।’ प्रधानमन्त्री ओली का कहना है कि संविधान संशोधन के बाद देश और मजबुत और एकताबद्ध होना चाहिए, नहीं संशोधन का कोई भी औचित्य नहीं है ।
प्रधानमन्त्री ओली ने यह भी कहा है कि अब सरकार हिंसा और अपराध नियन्त्रण के लिए कड़ाई के साथ प्रस्तुत होने वाला है । उन्होंने आगे कहा– ‘अब बलात्कार की घटना रुक जाएगी । महिला हिंसा के विरुद्ध जागरण अभियान शुरु की जाएगी । कड़ा कानून निर्माण कर कार्यान्वयन किया जाएगा ।’ प्रधानमन्त्री ओली ने यह भी कहा कि अब भ्रष्टाचार को भी नियन्त्रण किया जाएगा ।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

avatar
  Subscribe  
Notify of
%d bloggers like this: