देश का विघटन एमाले के कारण हाेगा :अभिषेकप्रताप साह

जनकपुरधाम, ५ पुस । 

उपेन्द्र यादव नेतृत्व के संघीय समाजवादी फोरम के युवा नेता तथा सांसद अभिषेकप्रताप साह सामाजिक सञ्जाल फेसबुक के द्वारा देश विघटन की   अभिव्यक्ति देने के बाद विवाद में पड गए हैं । उनकी  पार्टी ने ही उनकी अभिव्यक्ति काे दुर्भाग्यपूर्ण बताया है ।  पर साह अपनी अभिव्यक्ति मे  अडिग हैं । उनका मानना है कि मधेशी जनता जब भी अधिकार माँगती है ताे उसे एमाले द्वारा अपमानित किया जाता है अाैर अगर एेसा ही रहा ताे देश काे विभाजन से काेई नहीं राेक सकता है । उन्हाे‌ने अाराेप लगाते हुए कहा कि भारतीइ सीमा काे दसगजा तक मानेंगे परन्तु चूरे से नीचे रहने वालाें काे भारतीय अाैर विखण्डन कारी कहा जाता है ।उन्हाेंने कहा कि मैं जाे भी कह रहा हूँ साेच समझ कर कह रहा हूँ अाैर मधेशी की भावा का खयाल कर के कह रहा हूँ । हमने समग्र नेपाल के भीतर रहकर अपना अधिकार लेना चाहा है पर हमेशा हमें  नकली राष्ट्रवादियाें से तिरस्कार ही मिला है ।  अब मधेश की जनता का धैर्य का बाँध टूटने लगा है । लगातार तिरस्कार सहने से ताे अच्छा है कि अलग राह चुन ली जाय । जब जनता काे शान्ति से अधिकार नहीं मिलता है ताे देश विखण्डन हाेता है अाैर इसके कई उदाहरण हैं । हमें एमाले काे काेई डीएनए टेस्ट देने की जरुरत नहींं है । इस देश काे अब विभिन्न जात जाति वर्ण भाषाा के लाेग नहीं चाहिए ताे हमें भी यह देश नहीं चाहिए । एक ही देश में अगर रहना है ताे हमें बराबरी का अधिकार चाहिए । बात स्पष्ट है यह देश एमाले के कारण टूटेगा । वाे मधेशी काे नेपाली मानते ही नहीं अाैर इसलिए उनहें काेई अधिकार नहीं देना चाहते । किसी तह या निकाय में मधेशी काे देखना नहीं चाहते ताे एेसे में नेपाल कैसे अखण्ड रहेगा । पार्टी अगर कार्यवाही करना चाहती है ताे करे पर मैंने जनता की भावना काे व्यक्त किया है ।
न्यूज ब्यूराे से

 

 

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
%d bloggers like this: