Sun. Sep 23rd, 2018

नई थेरेपी निजात दिलाएगा त्वचा कैंसर से

वॉशिंगटन। वैज्ञानिकों ने एक ऐसे अणु की पहचान की है जिसका समावेश के विरुद्ध की मारक क्षमता बढ़ाने के लिए कैंसर टीके में किया जा सकता है।

‘पीएनएएस’ पत्रिका में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार नामक इस अणु को वर्तमान टीके में मिलाने पर कैंसर के खिलाफ संघर्ष करने वाली कोशिकाएं ट्यूमर के स्थान पर पहुंच सकती हैं।

अनुसंधानकर्ताओं का कहना है कि मेलानोमा से पीड़ित चूहे पर प्रयोग से पता चला कि इस उपचार से उन मामलों में मरीज के स्वस्थ होने की संभावना बढ़ जाती है, जहां केवल दवा देने से काम नहीं चलता है। मेलानोमा एक प्रकार का त्वचा कैंसर है, जो नामक वर्णक उत्पादक कोशिकाओं के उत्परिवर्तित एवं कैंसरकारी होने पर पैदा होता है।
अमेरिका के स्क्रिप्स रिसर्च इंस्टीट्यूट के प्रोफेसर डेल बोगर ने कहा कि यह सह उपचार मेलानोमा के में पूरी तरह असरकारी रहा। अनुसंधानकर्ताओं के मुताबिक अगर ट्यूमर कोशिकाएं फिर से उभरने की कोशिश करती हैं, तो यह टीका प्रतिरोधक तंत्र को उनसे लड़ने में भी प्रेरित करता है। इस तरह यह कैंसर को फिर से हमला करने से रोकता है।
बेवदुनिया से
आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of