नयाँ दल दर्ता के लिए पशुपति शमशेर पहुँचे सर्वोच्च अदालत

काठमांडू, २ भाद्र । नयाँ दल दर्ता के लिए आदेश मांगते हुए पुशपति शमशेर राणा सर्वोच्च अदालत गए हैं । इस मांग के साथ उन्होंने दावा किया है कि पार्टी विभाजन के लिए आवश्यक ४० प्रतिशत सदस्यों का हस्ताक्षर उनके पास हैं । स्मरणीय है, राष्ट्रीय प्रजातन्त्र पार्टी से कुछ नेताओं ने आलग होने कि घोषणा करते हुए श्रावण २२ गते निर्वाचन आयोग में नयां दल दर्ता के लिए निवेदन दिया था । पार्टी वरिष्ठ नेता राणा के नेतृत्व में विभाजित नयां समूह ने उस वक्त ६४ सस्दयों का हस्तक्षर पेश किया था । लेकिन आयोग ने हस्ताक्षर प्रमाणीकरण के लिए सभी सदस्यों को उपस्थिति कराने के लिए निर्देशन दिया था । लेकिन राणा उसके लिए तैयार नहीं हुए हैं ।
आयोग की इसी निर्णय के विरुद्ध राणा ने सर्वोच्च अदालत में आज (शुक्रबार) रिट दायर किया है । अपनी रिट निवेदन में राणा ने कहा है कि उन की नया दल (राष्ट्रीय प्रजातन्त्र पार्टी ‘प्रजातान्त्रिक’) को मान्यता दिया जाए, इसके लिए सर्वोच्च से आदेश होना चाहिए । रिट निवेदन में राणा ने यह भी कहा है कि राप्रपा के अध्यक्ष कमल थापा ने कुछ पार्टी सस्दयों को अपहरण शैली में छुपाकर रखा है ।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz
%d bloggers like this: