नाकावन्दी से निमार्ण कार्य की योजना प्रभावित

नेपालगन्ज,(बाके) पवन जायसवाल २०७२ पुष २९ गते ।
भारतीय नाकावन्दी के कारण से मध्यपश्चिमाञ्चल क्षेत्र में करीब ५ सौं योजनाए“ प्रत्यक्ष प्रभावित हुआ है पुष २८ गते पत्रकार सम्मेलन में जानकारी दी गई ।Nirman-1
विगत लम्बे समय से हो रही नाकावन्दी के कारण से पेट्रोलियम पदार्थ की अभाव में मध्यपश्चिमाञ्चल क्षेत्र में करीब ५ सौं योजनाए“ प्रभावित होकर ठप्प रही है ।
मध्यपश्चिमाञ्चल क्षेत्रीय निमार्ण व्यवसायी संघ ने पुष २८ गते नेपालगन्ज में पत्रकार सम्मेलन की आयोजन देश में विद्यामान परिस्थतिया“ से निमार्णक्षेत्र में संकट पडी है बताया । देश की आधार स्तम्भ के रुप में निमार्ण क्षेत्र रही है तो भी सरकार ने इस सम्बन्ध में कोई भी नजर नही दे रही है क्षेत्रीय निमाण व्यवसायीयों ने सिकायत की ।
सभी योजनाए“ प्रभावित होन के बाद ईस क्षेत्र के करीब ३ हजार से अधिक निमार्ण व्यवसायी अन्र्तगत उस में काम करने वाले करीब दो लाख कर्मचारी तथा मजदुूरों की रोजीरोटी समेत खतम हो गई है मध्यपश्चिमाञ्चल क्षेत्रीय निमार्ण व्यवसायी संघ के अध्यक्ष मोहन प्रकाश आचार्य ने बताया ।
पत्रकार सम्मेलन कार्यक्रम में बोलते हुये निर्माण व्यवसायी महासंघ केन्द्रीय सदस्य मीनकुमार ओली ने पिछला परिस्थितियों से हम लोगों ने दोहरा मार में पडे है बताया । सरकार ने काम करने की जगाह पे दुःख देने की काम करती है और नाकावन्दी से निर्माण सामग्री न होन से ज्यादा सकस पडी है बताया । भारत की नाकावन्दी के कारण से सरिया, सिमेन्ट तथा इन्धन की अभाव के कारण से निर्माण व्यवसायी संकट में पडे है बताया ।
महासंघ के निवर्तमान केन्द्रीय उपाध्यक्ष कर्ण मल्ल ने नाकावन्दी के कारण निर्माण व्यवसायी धरासायी में पडे है चिन्ता व्यक्त किया । उन्हों ने कहा यही तो अवस्था रही तो निर्माण व्यवसायी पलायन होने की स्थिति आ सकती है ।
अभाव के कारण निमार्ण सामाग्री की मूल्य अत्याधिक बढेने के कारण से और कालाबजारी के कारण से ही काम करने में कठिनाई पड रही है, योजना होने की समय पर बैंक में किस्ता कैसै जमा करे औ कैसै कर्मचारियों को तलब दें लगायत की आर्थिक समस्याए“ सामने आई है , छोटे निमार्ण कार्य की म्याद थप और मूल्य बृद्धि बढाना न पाने की कानूनी प्रावधान के कारण से छोटे निमार्ण व्यवसायीयों की घर खेत समेत लिलाम होने की अवस्था आई है छोटे निमार्ण कार्य के लिये मुल्यवृद्धि कर पाने की म्याद थप होना लगायत की माग उन लोगों ने आगे बढाय

Loading...
%d bloggers like this: