निर्वाचन क्षेत्र निर्धारण आयोग बैठक : जानिए किस नेता नें क्या कहा ?(पुरी राम कहानी)


हिमालिनी डेस्क
काठमांडू, ३० जुलाई ।
निर्वाचन क्षेत्र निर्धारण आयोग ने आज आयोग के कार्यालय सिंहदरबार में राजनीतिक दलों के शीर्ष नेताओं के साथ विचार–विमर्श किया ।

विचार विमर्श में माओवादी केंद्र के अध्यक्ष पुष्पकमल दाहाल ने विभाजित रुकुम और नवलपरासी समेत ७७ जिलों में इससे पूर्व के अभ्यास और संवैधानिक व्यवस्था के मुताबिक निर्वाचन क्षेत्र निर्धारण करने का सुझाव दिया ।

मौके पर नेकपा एमाले के वरिष्ठ नेता झलनाथ खनाल ने निर्वाचन क्षेत्र निर्धारण के संदर्भ में जनसंख्या और भूगोल को आधार मानने के अंतरराष्ट्रीय अभ्यास का जिक्र करते हुए इस पर अमल करने का सुझाव दिया । वहीं नेपाली कांग्रेस के नेता डॉ. रामशरण महत का भी यही मत था ।

जबकि राजपा नेपाल के नेता राजेंद्र महतो ने कहा कि ७५ जिलों को बरकरार रखते हुए मधेश में जनसंख्या के आधार पर समानुपातिक तौर पर क्षेत्र निर्धारण होना चाहिए । वहीं संघीय समाजवादी फोरम नेपाल के अध्यक्ष उपेंद्र यादव ने प्रदेश की जनसंख्या को ही आधार मानकर क्षेत्र निर्धारण किए जाने को उपयुक्त बताया ।

संवैधानिक व्यवस्था के मुताबिक हालिया २४० निर्वाचन क्षेत्रों को घटाकर १६५ बनाना होगा, साथ ही प्रतिनिधि सभा की दुगनी संख्या में प्रदेश सभा के लिए निर्वाचन क्षेत्र निर्धारित करने होंगे ।

Loading...
Tagged with

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz