Tue. Sep 18th, 2018

नुसरा फ्रन्ट जिहादी ग्रुप का अल कायदा से अलग होकर एक नयी पहचान

नुसरा फ्रन्ट जिहादी ग्रुप का अल कायदा से अलग होकर एक नयी पहचान
 मालिनी मिश्र,काठमाण्डू, २९ जुलाई ।
nusra
आतंकवाद का कोई जात धर्म नहीं होता ,उसकी पहचान तो  सिर्फ आतंक के बल पर बनायी जा रही है । इसी क्रम में सीरिया के जिहादी ग्रुप जो कि नुसरा फ्रंट के नाम से जाना जाता है, अलकायदा से अलग होने का एलान कर रहा है । इस संगठन का  नया नाम फतहत फतेह अल शाम होगा , जिसका तात्पर्य है कि सीरिया फतह करने के लिए बना फ्रंट ।
यह एक रिकार्डेड संदेश के माध्यम से संगठन के नेता अबु मोहम्मद अल जुलानी ने बताया है । इस संगठन के अलग होने का समर्थन अलकायदा के दूसरे नेता अबु अल खैर भी कर रहे हैं  और कहा है कि यह संगठन सीरिया में मुसलमानों के हित के लिए व जिहाद को बचाए रखने के लिए आगे बढेगा  । साथ ही कहा कि इस संगठन का विदेशी संगठनों से कोई संबंध नही होगा । इस तरह के फैसले लेने का कारण, खासकर अमरीका व रुस की ओर से हो रहे बमबारी व इस संगठन पर बंबारी करके सीरिया के विस्थापित मुसल्मानों से छल को सामने लाने के लिए बताया जा रहा है । माना जा रहा है कि इस संगठन में ५ से १० हजार तक लडाके हैं ।
 विश्लेषक यह मान रहे हैं कि सैन्य कार्यवाही तेज होने के साथ ही यह संगठन अपनी नई पहचान बनाने में लगा है । अमरीका व रुस के विदेश मंत्रियों का कहना है कि वह इस संगठन के प्रति ठोस कदम उठाएंगे ।
आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.