नेपालगञ्ज में अवधी भाषा पाठ्यक्रम निर्माण के लिये नक्शांकन किया गया

नेपालगञ्ज÷(बाके) पवन जायसवाल, २०७४ पौष २२ गते ।
अवधी भाषा पाठ्यक्रम सामाग्री निमार्ण करने की विषय पर नेपालगञ्ज में अवधी क्षेत्र का नक्शांकन बिनायक गेष्ट हाउस में किया गया ।
विश्व शिक्षा की सहकार्य में बाके युनेस्को क्लब ने नेपालगञ्ज में आयोजन किया कार्यशाला में अवधीविज्ञ, शिक्षक, साहित्यकार तथा अगुवाओं की सहभागिता में अवधी भाषा की नक्साङ्कन किया गया ।
नेपाल में अवधी भाषिक भौगोलिक क्षेत्र, तथा बोलने वाली भाषा और स्थान की विषय पर बातचीत किया गया था विभिन्न ११ चरण पूरा करके नक्साङ्कन किया गया था यूनेस्को क्लब के अध्यक्ष प्रबेज अली सिद्दिकी ने बताया ।
पश्चिम नेपाल नवलपरासी जिला से लेकर कञ्चनपुर जिला तक अवधी भाषी की भौगोलिक क्षेत्र रही है । बाके जिला को केन्द्र माना गया अवधी भाषा में बालबालिकाओं के लिये पाठयक्रम तयार किया जाएगा ।
नक्साङ्कन की बाद अब विद्युतीय सा फट्वेयर में पाठयक्रम निर्माण  के लिये कार्य शुरु होगा  । पाठयक्रम तयार होने के  बाद में कक्षा १, २ और ३ के विद्यार्थियों को अपनी मातृ भाषा में पढना लिखना और सीखने की कार्य में सहजता होगी । कार्यशाला में विश्व शिक्षा की सीमा आचार्य सहित की ४ लोगों की टोली ने सहजीकरण किया था यो । कार्यक्रम में बा“के जिला के सहायक जिला शिक्षा अधिकारी गोरखबहादुर थापा ने मातृ भाषा की पाठयक्रम से अवधीभाषी बालबालिकाओं को अधिक उपयोगी होगी बताते हुये इस्से वो लोगों की शुरुवाती सीखने की आधार मजबूत होगी बताया ।
कार्यशाला में अवधीविज्ञ, साहित्यकार, अगुवा, शिक्षक, स्रोत व्यक्ति करके २५ लोगों की सहभागिता रही थी कार्यक्रम में यूनेस्को क्लब के वरिष्ठ उपाध्यक्ष सिराज खान ने स्वागत करते हुये कार्यक्रम की उद्देश्य पर प्रकाश डाला था पत्रकार राकेश कुमार मिश्र ने जानकारी दी ।

 

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
%d bloggers like this: