नेपालगन्ज में भानु जयन्ती के उपलक्ष्य में बहुभाषिक कवि गोष्ठी

नेपालगन्ज,(बाके) पवन जायसवाल । गुल्जारे अदब बाके नेपालगन्ज और भेरी साहित्य समाज नेपालगन्ज की संयुक्त रुप में शनिवार को महेन्द्र पुस्तकालय नेपालगन्ज में बहुभाषिक कवि गोष्ठी का आयोजन किया गया | कार्यक्रम में २०४ वीं भानु जयन्ती की उपलक्ष्य में भानु भक्त आचार्य की चर्चा की गयी।
गुलजारे अदब नेपालगन्ज कीे ओर से उर्दू साहित्यकार मोहम्मद अमीन ख्याली और भेरी साहित्य समाज नेपालगन्ज की ओर से भेरी साहित्य समाज नेपालगन्ज के अध्यक्ष तथा नेपाल प्रज्ञा प्रतिष्ठान के प्राज्ञ सदस्य हरि प्रसाद तिमिल्सिना की अध्यक्षता में सम्पन्न हुआ कार्यक्रम में आदिकवि भानु भक्त आचार्य की जीवन चर्चा कि गई थी साथ साथ रचना भी वाचन किया गया था ।
कार्यक्रम के प्रमुख अतिथि नेपाल प्रज्ञा प्रतिष्ठान के पूर्व प्राज्ञ तथा सदस्य सचिव सनत रेग्मी ने आदिकवि भानुभक्त आचार्य की जीवनी बारे में प्रकाश डाला था ।
कार्यक्रम में नेपालगन्ज उद्योग बाणिज्य संघ के अध्यक्ष नन्दलाल बैश्य ने कहा साहित्यक कार्यक्रम के लिये और साहित्य में योगदान पहुचानेवाली कार्यक्रम में मैं सदैव सहयोग करने के लिये नेपालगन्ज उद्योग बाणिज्य संघ औरुर मैं ब्यक्तिगत की ओर भी कहर वक्त तयार हू“ । कार्यक्रम में अदब के सचिव मोहम्मद मुस्तफा अहशन कुरैशी, अवधी सा“स्कृतिक विकास परिषद् के अध्यक्ष सच्चिदानन्द चौवे, अवधी सास्कृतिक प्रतिष्ठान केन्द्रीय समिति के अध्यक्ष बिष्णुलाल कुमाल, बा“के जिला अदालत के पूर्व शाखा अधिकृत मौलाना नूर आलम मेकरानी, मो. यूसुफ आरफी, इसी तरह कविराज रेग्मी, महेन्द्र रोका (अदृश्य), अबेक्षा सिंह, डि.बी अस्तु, पुष्प रिजाल, हरि प्रकाश भण्डारी लगायत लोगों ने अपनी अपनी लेख रचना वाचन किया था । कशौंधन बैश्य सेवा समाज की अध्यक्ष सुनील कुमार बनिया की भी उपस्थित रही थी कार्यक्रम की सञ्चालन महेन्द्र वाग्ले ने किया था गुल्जारे अदब के सचिव मोहम्मद मुस्तफा अहशन कुरैशी ने जानकारी दी ।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz