नेपालगन्ज मे बालबालिका बहस तथा स्वास्थ्य विषय में प्रशिक्षक प्रशिक्षण

111बाँके के बैजापुर में बालबालिका और सरोकारवालोें निकाय के बीच बहस
नेपालगन्ज, पवन जायसवाल, मंसीर ६ गते  ।
बाँके जिला के राप्तीपार में रहा बैजापुर स्थित जनशक्ति माध्यमिक विद्यालय में बालबालिका और सरोकारवालों निकाय के बीच खुला बातचित तथा सार्वजनिक सुनवाई किया गया  ।
अन्र्तराष्ट्रीय बाल अधिकार दिवस के अवसर पर सेभ द चिल्ड्रेन के सहकार्य में सूचना और मानव अधिकार अनुसन्धान केन्द्र नेपालगन्ज द्वारा सञ्चालन किया गया कार्यक्रम में जिला शिक्षा अधिकारी, महिला विकास, जिला विकास समिति बाके, जिला जनस्वास्थ्य कार्यालय, बैजापुर गाविस, स्वास्थ्य चौकी, विद्यालय के शिक्षक को बालबालिकाओं ने बालमुद्धा के सवालों पर विभिन्न जिज्ञासा रक्खे थे  ।
सैंकडों के संख्या में सहभागी बालबालिकाओं ने गाविस में बालबालिकाओं का रकम हिनामिना, विद्यालय में यातना, यौनहिंसा, स्वास्थ्य समस्या, स्थानीय निकाय में सहभागिता और बालबालिका बेचबिखन के विषय में सरोकार निकायों के समक्ष जिज्ञासा रक्खा था। गाव बाल संरक्षण तथा प्रबद्र्धन उपसमिति बैजापुर की उपाध्यक्ष कल्पना चौधरी ने गाविस में विनियोजन होनवाला  दश प्रतिशत रकम खानेपानी जडान, विद्यालय के 222पंखा जडान से लेकर अन्य रास्ता निर्माण में बालबालिकाओं को जानकारी न देकर खर्च होता रहता है इस को बन्द करने के लियें आवाज उठाया । उन्होने बालबालिका बेचबिखन और मजदूरी में प्रयोग हो रहे है स्थानीय प्रहरी ने कडाई नही कर पा रही कहा ।
सहभागीयों की ओर से  भीम बहादुर डाङ्गी ने बालबालिकाओं की रकम दुरुपयोग हो रहा है  बताते हुयें स्थानीय निकायों में सहभागीता में वञ्चित किया गया है बताया । सहभागी बालबालिका ने बालमुद्धा के विषय में सरोकार निकायों को प्रश्न पूछा । बालबालिका ने  रक्खा अपना अपना विचारों को लिये जिला शिक्षा अधिकारी रामसुरेश यादव ने विद्यालय में किसी भी बहाना में मानसिक, शारीरिक यातना दे नही सकते है, यौनहिंसा हुआ तो सम्बद्ध शिक्षकों को कारवाही होगी और बालबालिका शीर्षक में आया कोई भी बजेट, कार्यक्रम, छात्रवृत्ति अन्यन्त्र प्रयोग करना नही मिलेगा उन्होंने बताया ।
इसी तरह जिला विकास समिति बाँके के सामाजिक अधिकृत भरत कुमार मल्ल ने स्थानीय कार्यविधि से ही बालबालिकाओं की रकम बालबालिका के क्षेत्र में प्रयोग होना चाहिए उल्लेख किया  अन्यन्त्र प्रयोग सचिव नही कर पाएगा और बालबालिकाओं ने प्रक्रिया पहुँचाकर कार्यक्रम समावेश करने के लियें बताया ।
बहस में महिला तथा बालबालिका कार्यालय, जिला बाल कल्याण समिति के बाल अधिकृत महेश नेपाली, जिला जनस्वास्थ्य कार्यालय के अधिकृत तथा सूचना अधिकारी सरोज शाह, बैजापुर गाविस सचिव एवं अध्यक्ष रामु केसी, स्थानीय प्रहरी चौकी इन्चार्ज देवीलाल घर्तिमगर, अधिवक्ता लोकबहादुर शाह, सेभ द चिल्ड्रेन के कार्यक्रम संयोजक मीना पराजुुली, गाव बालसंरक्षण तथा सम्बद्र्धन उपसमिति के सयोजक तुलसीराम थारु लगायत लोगों ने बालबालिकाओं के अधिकार क्षेत्र, बना ऐन कानून के बारे में जवाव तथा धारणा रक्खा था । केन्द्र के कार्यक्रम संयोजक राकेशकुमार मिश्र ने संचालन किया था बहस की अध्यक्षता केन्द्र के अध्यक्ष विश्वजीत तिवारी ने किया था ।

1खोज उद्धार तथा आपत्कालीन स्वास्थ्य विषय में प्रशिक्षक प्रशिक्षण

नेपालगंज, (बाँके) पवन जायसवाल, मंसीर ५ गते ।
नेपाल रेडक्रस सोसाइटी के आयोजन मे ५ दिन के लियें खोज उद्धार तथा आपत्कालीन स्वास्थ्य विषय में प्रशिक्षक प्रशिक्षण नेपालगंज में ११ नवम्बर से २२ नवम्बर संचालन हुआ है ।
डेनिस रेडक्रस के सहयोग में मध्यपश्चिमाञ्चल के १५ जिला में संचालन हो रहा  आपत्कालीन पूर्व तयारी तथा प्रतिकार्य कार्यक्रम का आयोजन में लेबल ए के प्रशिक्षक प्रशिक्षण संचालन हुआ है ।
तालिम की शुभारम्भ करते हुयें नेपाल रेडक्रस सोसाइटी के कार्यवाहक अध्यक्ष अजीतकुमार शर्मा ने मध्यश्चिमाञ्चल क्षेत्र के सभी जिला में मौसम परिवर्तन के साथ आगजनी, बाढ और शीतलहर के प्रकोप होता रहता है । यें सब प्रकोप से लड्ने के लियें रेडक्रस के स्वयंसेवकों को क्षमता विकास करने के लियें कार्यक्रम संचालन किया गया IMG_6634है उन्हों ने बताया ।
डेनिस रेडक्रस के प्रतिनिधि एसिया के क्षेत्रीय संयोजक पिटर डाम ने तालीम से दक्षता प्राप्त वाले  स्वयंसेवक नेपाल रेडक्रस सोसाइटी के सम्पति है और भविष्य में होने वाला विपद के समय में तत्काल परिचालन होकर सहयोग करने पर  विश्वास व्यक्त किया ।
मध्यपश्चिमाञ्चल क्षेत्र के भेरी, कर्णाली और राप्ती अंचल के लियें अलग स्थान में संचालित तालिम में नेपाल रेडक्रस सोसाइटी जिला कार्य समिति के पदाधिकारी, सदस्य और कर्मचारीयों  की सहभागिता रही थी । इसी तरह राप्ती अंचल का तामिल सम्पन्न हुआ है भेरी और कर्णाली अञ्चल के स्वयंसेवकों  के लियें तालिम संचालन हो रहा है । प्रत्येक जिला से  ५ लोग की  सहभागिता रही  थी तालिम से ७५ लोग प्रशिक्षक तयार हो रहे  है जानकारी दी है ।
नेपाल रेडक्रस सोसाइटी के कार्यवाहक अध्यक्ष अजीतकुमार शर्मा के अध्यक्षता में सम्पन्न शुभारम्भ कार्यक्रम में बाके जिला शाखा के सभापति गोवर्धन सिंह सम्झना ने शुभकामना मन्तव्य और नेरेसो आपत्कालीनपूर्वतयारी तथा प्रतिकार्य कार्यक्रम के  क्षेत्रीय कार्यक्रम संयोजक इश्वर रेग्मी    ने उद्देश्य पर प्रकाश डाला था ।
तालिम के सहजकर्तायों में नेपाल रेडक्रस सोसाइटी के डा.मौषम बोहरा, मनोज थोकर, मानबहादुर सिंह, मुकेशचन्द्र गौतम, ललित खतिवडा और महेश्वर थपलिया रहे थे नेपाल रेडक्रस सोसाइटी बाके शाखा के प्रहलाद बिश्वकर्मा ने जानकारी दिया ।

loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz