नेपालगन्ज सीमा क्षेत्र में मदिरा निषेध किया गया ।

नेपालगन्ज । पवन जायसवाल ।  कहावत है कि सूर्य अस्त  नेपाल मस्त लेकिन अब बांके जिला में इस कहावत बदलता नजर आरहा है । नेपाल में साम पडते ही सराब की विक्री बढ जाती है खास करके शिमावर्ती इलाकों मे सभी होटल भरे परे नजर आते है ।शरावियों की मटरगस्ती भी देखने को मिलती है । शराब आसानी से उपलब्ध होने के कारन पडोस भारत से मदिरा सेवन करने के लिये  लोग नेपाल मे आकर अपना थकान दूर करते है । लोग यह कहते सुने जाते है कि जब सूर्य अस्त तब नेपाल मस्त लेकिन बांके जिला के प्रहरी ने सीमा छेत्रमें  मदिरा बेचने पर निषेध कर दिया है ।
भारतीय सीमा से जुडा हुआ २ किलो मीटर क्षेत्रके तक प्रहरी ने मादक पदार्थ सेवन  और बेचबिखन के लिये रोक लगा दिया है ।
बिभिन्न प्रकारके अपरधिक घटनाओं को नियन्यत्रण करने के लिये सीमा क्षेत्रमें मदिरा सेवन और बेचबिखन में रोक लगाया गया है , बांके जिला के प्रहरी कार्यालय के प्रहरी उपरीक्षक बिक्रम सिंह यापा ने जानकारी दी ।
नेपाल में एकदम सहज तरीके से मादक पदार्थ मिलने के वजह से मदिरा सेवन के लिये केवल  भारत से आदमी आने के वजह से प्रहरी ने मादक पदार्थ सेवन और बेचबिखन में रोक लगाया है ।
निर्णय कार्यान्वयन करने के लिये जिला प्रहरी कार्यालय के  प्रहरी उपरीक्षक थापा ने सीमा क्षेत्रको नियन्त्रण करने के लिये प्रहरी को तैनात किया  है ।
एक सप्ताह पहले मध्य पश्चिमाचंल के क्षेत्रीय प्रशासक शारदा प्रसाद त्रिताल और नेपालके मध्य पश्चिम क्षेत्र के प्रहरी प्रमुख डी आइृ जी टपेन्द्र ध्वज हमाल से हुआ अन्तरक्रिया कार्यक्रम में बांके जिलाके पत्रकारों ने भी सीमा क्षेत्र में मदिरा सेवन और बेचबिखन नेपाल के प्रतिष्ठा से जुडा है इस लिये नियन्त्रण करने के लिये भी ध्यानाकर्षण कराया था।
इस के बाद जिला प्रहरी कार्यालय मे भारतीय सीमा क्षेत्रसे २ किलो मीटर क्षेत्र के अन्दर मदिरा सेवन और बेचबिखन पर रोक लगाया गया है ।

loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz