नेपाल अभी भी हिन्दू राष्ट्र है : पंडित प्रदीप (कार्यकारी सम्पादक ) दैनिक भास्कर

प्रदीप पंडित (कार्यकारी सम्पादक ) दैनिक भास्कर दिल्ली

प्रदीप पंडित (कार्यकारी सम्पादक ) दैनिक भास्कर
नमामि शमीशान निर्वाण रूपं ।
विभुं व्यापकं ब्रम्ह्वेद स्वरूपं ।
निजं निर्गुणं निर्विकल्पं निरीहं ।
चिदाकाश माकाश वासं भजेयम ।
निराकार मोंकार मूलं तुरीयं ।
गिराज्ञान गोतीत मीशं गिरीशं
ऐसे शिव जहाँ प्रतिष्ठित है, उपस्थित है, मान्य है, पूजित है, शिव कल्याण है । यह परम भाव नेपाल को सदैव के लिए हिन्दू राष्ट्र बनाता है । राष्ट्र एक अवधारणा है । चीन हो या कोई और देश किसी भू–भाग को तो मानचित्र में दिखा सकता है, लेकिन वहां के जनसमुदाय, उनके भाव–बोध, उनकी राजनीतिक और सामाजिक अस्मिता, सह–अस्तितव को मानचित्र में नहीं दिखा सकता । इसका कोई उपाय नहीं है । बुद्ध के विचार भी चीन गए थे । लेकिन वे उसके मानचित्र में नहीं दिखाई देते । लओत्से और च्यागस्से भी भारत में है, लेकिन चीन की भौगोलिक स्थितियों से इधर विचारों की विरसता के साथ विस्तारवादी नीति की ललक चीन को दुनिया में एक बड़े और सह–अस्तित्व के देश के रुप में स्थापित नहीं रकने दे रही है ।
गुंचे–गुंचे में रहता है । आस्था में राजनीतिक रिश्तों तक नेपाल पर कोई अपना दावा नहीं जता सकता । नेपालियों के नक्शें ने दुनियां की इकारत कभी बदली नहीं दुनिया की स्थितियों ने नक्शे बनाए हैं । चीन को समझना होगा हर बात का अनुवाद व युद्ध की धमकी है न युद्ध यकीनन् । क्योंकि हर युद्ध के बाद भी शांति प्रस्ताव पर बातचीत होती रही है ।

हिमालिनी दिल्ली संबाददाता रूचि सिंह

 

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz