फेरी हेप्यो इण्डियाले

गंगेश मिश्र, कपिलवस्तु
omओली जी की बात,
मोदी जी के साथ।
क्या करेंगे बात
लेकर ख़ूनी हाथ।
दिल्ली पहुँचते ही,
स्वागत् किया गया,
बधाई दिया गया
पर जमी नहीं कुछ बात।
हाथ था,
सुषमा जी का।
मोदी जी न आए थे,
मीडिया वाले बौराए से
लगे चिल्लाने
यस्तो कहाँ हुन्छ,
प्रधानमन्त्रीको स्वागत्
प्रधानमन्त्रीले गर्नुपर्छ,
फेरी हेप्यो इण्डियाले।
इन मीडिया वालों का,
स्वाभिमान तभी जगता है।
जब सामने,
इण्डिया होता है।
चाइना के सस्ते सामानों ने,
इनके स्वाभिमान को भी
सस्ता कर दिया है।

Loading...
%d bloggers like this: