नेपाल किसी एक समुदाय का राष्ट्र नही हो सकता– ठाकुर

नेपाल किसी एक समुदाय का राष्ट्र नही हो सकता– ठाकुर
कहा मधेस भूमि हमारी है, हमें मधेस की स्वायत्तता चाहिएFormer Madheshi minister Thakur talks in Kathmandu

विजेता चौधरी, परासी, अषाढ ६
तराई–मधेस लोकतान्त्रिक पार्टी तमलोपा के अध्यक्ष महन्थ ठाकुर ने कहा कि नेपाल किसी एक समुदाय का मात्र नहीं हो सकता । परासी में जारी तमलोपा के प्रथम महाधिवेशन को सम्बोधन करते हुए उन्होंने कहा कि राज्य के प्रत्येक निकाय में जनसंख्या के आधार में समानुपातिक प्रतिनिधित्व होना चाहिए । एक जाति के शासन से नेपाल सभी का राष्ट्र हैं ऐसी भावना जनता में जहीं आती है ।
महाधिवेशन को सम्बोधन करते हुए अध्यक्ष ठाकुर ने कहा कि मधेस भूमि हमारी है, मधेस को स्वायत्तता चाहिए । उन्होंने मधेस जब तक स्वायत्त नहीं हो जाती तब तक आन्दोलन नहीं रुकेगा बताया । तराई मधेस की जनता को ५२ प्रतिशत हिस्सा राज्य के हरेक तह में मिलनी चाहिए उनकी अभिव्यक्ति थीं ।
अध्यक्ष ठाकुर ने कहा कि सत्ता पक्ष ने हमें लगातार धोखा दिया है, ३६ बार तक सरकार के साथ वार्ता असफल रही है । उन्होंने कहा कि संविधान सम्बोधन भी धोखा है । उन्होंने एक सौ ६५ निर्वाचन क्षेत्र मध्य ७० क्षेत्र सत्ताधारियों के हाथ में है कहते हुए स्पष्ट किया कि सत्ताधारी ने खस आर्य जन्माए, इसी वजह से कर्णाली प्रदेश बनी है । उन्होंने कहा कि मधेस अभी अशान्त है जबतक हमारी माग सरकार पूर्ण नही करेगी तब तक सिंहदरबार घेराव जारी रहेगा ।
महाधिवेशन में २७ जिला के १२ सौ प्रतिनिधि सहभागी हैं । महाधिवेशन उद्घाटन सत्र में नेपाली कांग्रेस के सभापति शेरबहादुर देउवा, राप्रपा अध्यक्ष पशुपतिशमशेर जवरा, भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष भगवतसिंह तथा उत्तरप्रदेश विधानसभा के सभामुख माताप्रसाद पाण्डेय लगायत के विभिन्न जारनीतिक दल के नेतओं की उपस्थिति थीं । महाधिवेशन ६, ७ व ८ गते तक जारी रहेगा ।

Loading...