नेपाल की स्थिति : खिसियानी बिल्ली खम्भा नोचे

मनोज बनैता,लाहान, ११आश्विन ।

DSC02072डेढ महीने से चल रहे मधेश आन्दोलन ने लगता है खसवादी अहंकारी शासकों को हिला के रख दिया है । मुख्य दल के नेतागण न जाने क्यूं अनाप सनाप बकने लग गए हैं । संयुक्त मधेशी मोर्चा ने ये दावा किया है कि खसवादियों की ये बौखलाहट है और कुछ भी नहीं । नेपाल का संविधान २०७२ को भारत ने सर्मथन नहीं किया पर बधाई तो दी है । सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि हरेक देश का ये व्यक्तिगत मामला है कि नेपाल का संविधान को सर्मथन करे या नहीं । सिर्फ सर्मथन न करने पर उस देश का राष्ट्रिय झण्डा जलाना कहाँ का न्याय है ? चीनी झण्डा जलाने पर खसवादी मिडिया ने अनेकों टिप्पणी की मगर आज भारत का झण्डा जलने पर खामोश क्यों ?

DSC02025संविधान के विरोध के क्रम में लाहान में आज प्रचण्ड, के.पी ओली और सुशिल कोईराला को जूता और चप्पल का माला लगाकर पुतला जलाया गया । कार्यक्रम में वैध समुह के लाहान नगर अध्यक्ष विजय गुप्ता ने कहा है कि सम्प्रादायिकता को भड़का रही है सरकार, मधेशी आन्दोलन में हो रहे सरकारी घुसपैठ को अगर रोका न गया तो देश की अवस्था भयावह हो सकती है । उन्होंने सरकार को एक नसीहत दी है कि मधेशी को न भड़काएँ । अगर मधेशी शेर भड़क गया तो खसवादियों को लेने के देने पड़ सकते हंै ।

उसी तरह फोरम नेपाल के चलितर महतो ने भी सरकार के इस रवैया की भत्र्सना की है । उन्हाेंने कहा कि नाकाबन्दी मधेशी आन्दोलनकारियों ने किया है भारत ने नहीं । भारत प्रति नेपाल का इस रुख ने सावित कर दिया है कि कुत्ते की दुम कभी सीधी नहीं हो सकती है । उन्होंने कहा कि नेपाल की ऐसी विरोधाभासी सोच लज्जास्पद है । मिशन मधेश के संयोजक दिनेश्वर गुप्ता ने कहा है कि खसवादियों की दीवार मधेश आन्दोलन ने हिला दी है अब बस एक जोर का धक्का लगाना बाँकी है । कार्यक्रम में माओवादी वैध का उमेश साह,तमरा अभियान का केन्द्रिय सदस्य राम शंकर साह लगायत ने मधेश मुक्ति के बारे में भाषण दिया ।DSC02115

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz
%d bloggers like this: