नेपाल को पुनः हिन्दु राष्ट्र कायम करने का द्विपक्षीय विचारों का निष्कर्ष

मध्यप्रदेश, संवाददाता चैत्र १६
भारत मध्यप्रदेश मे हुई दो दिवसीय नेपाल–भारत संयुक्त गोष्ठी ने नेपाल को पुनः हिन्दु राष्ट्र कायम करने का निष्कर्ष निकाला है । गोष्ठी में मधेसी मुददों पर चर्चा करते हुये भारतीय पक्ष ने कहा– मधेस की जायज माग जबतक पूरी नही होगी तब तक नेपाल में शान्ति बहाली करना मुश्किल है ।
इण्डिया पोलिसी फाउण्डेशन तथा नीति अनुसंधान परिषद नेपाल और अन्तरराष्ट्रीय सहयोग परिषद भारत के संयुक्त आयोजन मे हुई उक्त गोष्ठी में विभिन्न क्षेत्र के विशेषज्ञ एवम् राजनीतिकर्मी लगायत ३५ जन की सहभागिता थी ।
गोष्ठी में नेपाल के तरफ से संविधान विद् नीलाम्वर आचार्य, भीमार्जुन आचार्य, गुणराज लुइटेल, पूर्व प्रधान सेनापती रुकमांगद कटवाल एवम नयाँ शक्ति अभियान के केन्द्रीय नेता रामकुमार शर्मा लगायत अशोक वैद्य, चन्द्रकिशोर झा सहित नेपाल से अन्य विशिष्ठ व्यक्तियोै की सहभागिता रही । वैठक में भारत के तरफ से भारतीय गृहमन्त्री राजनाथ सिंह, वीजेपी सांसद तरुण विजय, उत्तराञ्चल के पूर्वमुख्य मन्त्री भगत सिंह, कोरीयाली नेपाल मामला जानकार केवी राजन, नेपाल के लिए भारतीय राजदूत रंजीत रे सहित दो दर्जन व्यक्तियों के सहभागिता रही ।
भारत के राजधानी दिल्ली स्थित मध्यप्रदेश के सरकारी गेष्ट हाउस में उक्त गोष्ठी का आयोजन किया गया था । भारत ने नेपाल के विकास के लिए किसी भी प्रकार का सहयोग करने की प्रतिवद्धता जतायी ।

Loading...