नेपाल जूटमिल

हम लोग भारत सरकार को बताना चाह रहे हैं कि लगभग सात दशक पूर्व भारत के सहयोग से ही नेपाल में जूट मिलों की स्थापना हुई थी । यह कर लागू करना भारत–नेपाल के बीच पूर्व में हुई संधि की एक तरफ से अवहेलना भी है । नये अन्तशुल्क कर लगाने से हमलोग भारतीय बाजार में टीक नहीं पायेंगे । मिल बंद होता है, तो बड़ी संख्या में मजदूर, कर्मचारी बेरोजगार हो जाएंगे । हम लोग भारत सरकार का नये आदेश पर पुनः विचार करने हेतु ध्यान आकृष्ट करा रहे हैं ।

Rajkumar golchha

अंतशुल्क के कारण बंद हो रही है जूटमिल

एक समय ऐसा था, जब नेपाल के औद्योगिक नगरी विराटनगर में दर्जनों जूटमिल निर्वाध रूपसे संचालन में थी । नेपाल ...
Read More

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz