नेपाल–भारत के बीच सहमति : पाँच साल के अंदर सीमा स्तम्भ पुनिर्माण किया जाएगा

काठमांडू, १५ भाद्र ।
नेपाल–भारत संयुक्त सीमा कार्यदल समूह (बीडब्लुजी) के बैठक ने सहमति किया है कि पाँच साल के अंदर नेपाल–भारत सीमा में रहे सीमास्तम्भ को पुननिर्माण सम्पन किया जाएगा । सीमा क्षेत्र में देखी गई समस्या समाधान के लिए दोनों पक्षों के बीच नयां सहमति भी बनी है । सहमति के अनुसार दोनों पक्ष आगामी कात्तिक १५ से सीमा क्षेत्र स्थलगत अध्ययन करने के लिए जाएंगे । बुधबार भारत के देहरादुन में सम्पन्न विचार–विमर्श ने यह सहमति की है । बैठक का नेतृत्व नेपाल के तरफ से नापी विभाग के महानिर्देशक गणेशप्रसाद भट्ट और भारत के तरफ से लेफ्टिनेट जनरल भीपी श्रीवास्तव ने किया था ।


इसीतरह सीमा क्षेत्र में अतिरिक्त संयुक्त कार्यदल परिचालन करने के लिए भी दोनों पक्ष सहमत हुए हैं । दिल्ली स्थित नेपाली दूतावास स्रोत के अनुसार स्थलगत अध्ययन समाप्त होने के बाद आगामी साल काठमांडू में दोनों देशों के प्रतिनिधि सहभागी कार्यदल बैठक किया जाएगा । स्मरणीय है– नेपाल–भारत बीच कुछ स्थानों में सीमा विवाद हो रहा है । नेपाली पक्ष का कहना है कि कुछ जगहों पर दशगजा (सीमा क्षेत्र) में रहे ‘जंगे पिलर’ (सीमास्तम्भ) गायब हो चुका है, उस को पुनिर्माण करना है । स्मरणीय हैं– दोनों देशों ने सीमा विवाद समाधान के लिए परराष्ट्रस्तरीय सचिव को जिम्मेदारी दिया है । जब सचिवों के बीच बात बन जाएगी, तब मंंत्रीस्तरीय निर्णय से उस को फाइनल किया जाएगा ।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz
%d bloggers like this: