नेपाल भारत मैत्री समाज द्वारा ५१ बौद्ध तीर्थयात्री भारत यात्रा पर अाज विदा

काठमांडू , ३० दिसम्बर | आज राजधानी में एक भव्य समारोह के बीच नेपाल भारत मैत्री समाज के सहयोग से सुगत बौद्ध तीर्थयात्रा अन्तर्गत ४६ तीर्थयात्री और ५ सहयोगी को भारतीय दूतावास के डी.सी.एम. श्री अजयकुमार ने विदा किया | इस अवसर पर  डी.सी.एम. अजयकुमार ने कहा कि इस यात्रा से दोनों देशों का सम्बन्ध और प्रगाढ़ होगा | उन्होंने कहा कि जब ये तीर्थयात्री लौटकर आयेगें तो अपना अनुभव आदान प्रदान करेंगे | इससे लोगों में बुद्ध के बारे में भी सही जानकारी मिलेगी | श्री अजयकुमार का कहना था कि ज्ञान विकास व्यक्तित्व विकास का भी सही माध्यम है तीर्थयात्रा | इस अवसर पर नेपाल भारत मैत्री समाज के अध्यक्ष श्री प्रेम लश्करी ने सबों को शुभकामना व्यक्त किया | उन्होंने जानकारी दी की इससे पहले भी एक समूह भारत भ्रमण से वापस आ चुका है जिसका फीडबैक बहुत अच्छा मिल रहा है | कार्यक्रम नेपाल बौद्ध परिषद द्वारा संचालित सुगत बौद्ध महाविद्यालय द्वारा आयोजित किया गया था | तीर्थयात्री में छात्र, शिक्षक तथा परिवार भी शामिल हैं |

तीर्थयात्री ३० से दिसम्बर १३ जनवरी तक यात्रा में रहेंगें | यात्रा का रुट इस प्रकार है :- लगनखेल- भैरहबा -सुनौली – कुशीनगर – बैशाली – आम्रपाली – पटना – नालंदा – राजगीर – ग्रिधाकुत पर्वत – स्प्तपरनी गुफा – बोधगया – वाराणसी – सारनाथ – काशी- बनारस गंगा नदी – कोशाम्बी – आगरा – सानाकश्या – लखनऊ – श्रावस्ती- लुम्बिनी – कपिलवस्तु -तिलौराकोट – कुदान निग्लिहावा – गोतिहावा – रामग्राम – देवदह – लगनखेल |

 

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
%d bloggers like this: