परिवर्तन के लिए सर पे कफन बाध के निकले है : उपेन्द्र यादव (आन्दोलन की घोषणा)

संङघीय गठबन्धन द्वारा आन्दोलन कार्यक्रम घोषणा, फोरम अध्यक्ष यादव ने कहा इसबार शान्तिपूर्ण आन्दोलन की जाइगी

विजेता चौधरी, काठमाण्डू बैशाख १०
संयुक्त लोकतान्त्रीक मधेसी मोर्चा एवम् आदीवासी जनजाती सम्मिलीत सम्पूर्ण आन्दोलनरत गठवन्धन द्वारा आज पत्रकार सम्मेलन के बीच आगामी आन्दोलन के कार्यक्रम एवम् रुपरेखा घोषणा कीगई ।

DSCN2546
संघीय समाजवादी फोरम के अध्यक्ष उपेन्द्र यादव ने अवकी बार शान्तिपूर्ण आन्देलन करने की जानकारी दी । विभिन्न २७ पार्टी व मोर्चा आवद्ध गठवन्धन द्वारा बैशाख १५ से जेठ १ गते तक विभिन्न चरण का आन्दोलन घोषणा कीया गया है । गठवन्धन द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति मे वैशाख १५ गते प्रत्येक जिला के जिला प्रशासन कार्यालय मार्फत सरकार को ज्ञापनपत्र देना, १७ गते सम्पूर्ण जिला के सरकारी कार्यालयों में काला झण्डा प्रदर्शन, बैशाख १९ गते जिला सदरमुकाम लगात के मुख्य शहर–बजार में अन्तराष्ट्रीय मजदुर खिवर के अवसर में र्याली, आम सभा, कोण सभा लगायत के कार्यक्रम करने का गठबन्धन द्वारा जारी विज्ञप्ति मे उल्लेख है ।
बैशाख २१ से ३१ गते तक प्रत्येक प्रदेश–लिजा के प्रमुख शहरों में बृहत विरोध सभा आयोजन जिसमे २३ गते विराटनगर, धनगढी, पाँभथर एवम् पोखरा मे विरोध सभा, २४ गते विरगंज, नेपालगंज एवम् धनकुटा मे बृहत विरोध सभा का आयेजन किया जाएगा, २५ गते बुटबल, जनकपुर, पाल्पा, इलाम, सुर्खेत मे बृहत विरोधसभा की जाने की बात विज्ञप्ति में उल्लेख है । २६ गते को बिर्तामोड, हेटौडा, काभ्रे मे बृहत विारेध सभा क िजाएगी इस के साथ ही २७ गते धरान, राजविराज, दाङ, महोत्तरी, रौतहट एवम् कञ्चनपुर मे विरोध सभा तथा बैशाख २१ गते से उपत्यका के जिला के लिए जनपरिचालन एवम् विरोध कार्यक्रम सहित प्रत्येक दिन विभिन्न स्थान मे विरोधसभा, कोण सभा जारी रखने की बात गठबन्धन के प्रवक्ता ने जानकारी दी ।
जारी विज्ञप्ति में जेठ १ गते काठमाण्डौ जाऊ, सिंहदरबार घेरौं नारा को अभियान के रुपमें प्रचार प्रशार करने की बात उल्लेख है । जिसके तहत जिलों के साथ काठमाण्डू के आन्दोलन को विशेष रुप से परिचालित की जाने की बात उल्लेख है ।
पत्रकार द्वारा पुछे गए सवाल पर फोरम अध्यक्ष यादव ने कहा सरकार बंदुक उठाएगी तो हम भी जनबल के साथ उठेंङे । उन्होने पहले चरण के आन्दोलन पश्चात सरकार का रवैया जैसा रहेगा आगे का आन्दोलन उसी पर निर्भर होने की बात बताई ।

20160422_143148
पत्रकार सम्मेलन मे अध्यक्ष उपेन्द्र यादव ने, एक प्रश्न के जवाव मे कहा मधेसी आन्दोलन का कौन सा सम्झौता अब तक पूरा किया गया मेरा यह प्रश्न गृहमन्त्री से पुछने को आग्रह करते हुए कहा– संविधान संशोधन भी पुर्नलेखन ही है परन्तु टालटुल करके नही चलेगा, सभी के स्वामित्व ग्रहण करते हुए पुर्नलेखन करना जरुरी है ।
यादव ने जनता के उन्मुक्ति व परिवर्तन के लिए हमलोग सर पे कफन बाध के निकले है, एसा अभिव्यक्ति देते हुए कहा जनता के हक के लिए, संघीयता के लिए किसी भी हद तक जाएगी गठबन्धन ।

Loading...