परीक्षा में मिलेंगे पूरे अंक अगर अपनाएंगे ये टिप्स

downloadहिमालिनी डेस्क
काठमांडू, १९ मार्च ।

एसएलसी बोर्ड परीक्षा आरंभ हो चुके हैं । ऐसे में पढ़ाई को हौवा समझने की बजाय उसका लुत्फ उठाएं और समय प्रबंधन के साथ आगे बढ़ें।

 

रिवीजन पर जोर
अगर पूरे साल आपने नियमित तौर पर हर सब्जेक्ट पर बराबर–बराबर समय दिया होगा, तो निश्चित तौर पर आप अपनी तैयारी को लेकर काँन्फिरडेंट होंगे। पढ़ाई के दौरान छोटा सा नोट्स बनाना परीक्षा से पहले काफी मददगार होता है। उस नोट्स में महत्वपूर्ण फाँर्मूलों, थ्योरम्स, इक्वेशंस आदि को नोट करते जाएं। सुबह–शाम जब भी समय मिले, उसे दोहराते रहें। रिवीजन नहीं करने के कारण हम आसान सी चीज भी भूलने लगते हैं। एक्सूपर्ट्स और टा‘पर्स का भी यही कहना है कि कोई भी विद्यार्थी नियमित रूप से एक टाइमटेबल के अनुसार वर्ष भर पढ़ाई करे और फिर एग्जाोम से एक महीने पहले उसे सिर्फ दोहराता जाए, तो वह हर परीक्षा उत्तीर्ण कर सकता है। मनोवैज्ञानिक प्रो. नवीन कुमार कहते हैं कि भविष्य की चिंता कतई न करें। सिर्फ नियमित रूप से अपनी दिनचर्या का अनुसरण करें, तो परिणाम बेहतर आएंगे।

 

कठिन विषय पर फोकस
जिस विषय में खुद को कमजोर समझते हों, उस पर थोड़ा अधिक ध्या न दें। डरे बिना उसका सामना करेंगे, तो देर–सबेर उस पर जीत हासिल कर ही लेंगे। ‘ज्यादातर स्टूडेंट्स को गणित कठिन लगता है। लेकिन नियमित अभ्यास से इस विषय को आसान बनाया जा सकता है। रोजाना कम से कम घ घंटे तो इस विषय को जरूर दें।‘ हालांकि गणित हो या विज्ञान या फिर आर्ट्स स्ट्रीोम के सब्जेयक्टण, सभी को बराबर समय देना चाहिए। परीक्षा में किसी भी विषय में कौनसा प्रश्न पूछ लिया जाएगा, इसका अंदाज लगाना मुश्किल है, पर कभी भी नर्वस न हों। जिस समय सबसे अधिक तरोताजा महसूस करें, उसी समय कठिन विषय पढ़ें। हां, आसान लगने वाले विषय को अनदेखा करने की बजाय उस पर भी बराबर समय देते रहें।

 

फोटोग्राफिक मेमोरी
हमारा दिमाग फोटोग्राफिक मेमोरी को अधिक सेव रखता है। इसलिए चार्ट पेपर पर विज्ञान तथा गणित के प्रत्येक चैप्टर के महत्वपूर्ण फा‘र्मूला, नोट्स आदि अलग–अलग कलर में लिखकर कोट करना चाहिए। इसके माध्यम से एग्जाम के कुछ घंटे पहले भी पूरे सिलेबस को दोहराया जा सकता है।

 

अाँनलाइन सर्फिंग
विद्यार्थी समय–समय पर अपने बोर्ड आदि की साइट जरूर चेक करते रहें। साइट पर यह जानकारी दी जाती है कि बोर्ड किस चैप्टर को कितना वेटेज देता है।

 

सेहत और खान–पान
आप परीक्षा में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन तभी कर पाएंगे, जब खुद को फिट रखने पर ध्यान देंगे। परीक्षा के दिनों दिनों तलीभुनी, जंक फूड के स्थान पर पौष्टिïक भोजन लें। ७–८ घंटे की नींद जरूर लें। रात में जल्दी सोएं और सुबह जल्दी जगें। कुछ स्टूडेंट्स रात को जागकर पढ़ाई करते हैं और दिन में सोते हैं। अपनी इस आदत को बदलने की कोशिश करें। सुबह के समय खुद को तरोताजा ररवें। पढ़ाई के दौरान ब्रेक भी बहुत जरूरी है। इससे न सिर्फ नीरसता खत्म होती है, बल्कि आप खुद को ऊर्जा से भरपूर पाते हैं। इस दौरान आप संगीत सुन सकते हैं और हल्का–फुल्का गेम भी खेल सकते हैं। दिनचर्या में यदि व्यायाम, ध्यान, टहलने आदि को शामिल कर लिया जाए, तो न सिर्फ तरोताजा महसूस किया जा सकता है, बल्कि एकाग्रता भी बढ़ जाती है। इससे हमारे शरीर से एंडोर्फिन हार्मोन निकलता है, जो शरीर और दिमाग दोनों को तनाव रहित करता है।

 

प्रैक्टिस से खुद को बनाएं परफेक्ट
एनसीईआरटी की किताबों को बार–बार एकाग्रता से पढ़ें। समय सीमा और शब्दग सीमा के भीतर माँडल पेपर्स हल करने की लगातार प्रैक्टिस करें। विज्ञान विषय में ज्यादा लिखने से कोई फायदा नहीं होता है। किसी प्रश्न का जवाब नहीं आ रहा है, तो वक्तफ बर्बाद करने की बजाय उसे छोड़कर आगे बढ़ें। घ घंटे के पेपर को पौने तीन घंटे में हल करने की कोशिश करें, वरना साइंस और मैथ्स के लंबे पेपर में सवाल छूट सकते हैं। टाइम और स्ट्रेस दोनों को मैनेज करना सीखें। –एजेन्सी

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz
%d bloggers like this: