पशुपति मे लगभग ५ हजार साधु-बाबा ।

shiv-1२७ फागुन, काठमाडू। शिवरात्री के लिये पशुपति क्षेत्र मे लगभग ५ हजार साधु-बाबा दर्शन के लिये आयें हैं। पशुपति क्षेत्र विकास कोष के अनुसार अधिकांस साधुबाबा  भारत से आये हैं । साधुओं मे एक सय से अधिक नागाबाबा हैं । इस वर्ष साधुओं का आगमन ज्यादा होने के कारण पशुपति परिसर मे केवल नागाबाबा को ही धुनी सहित रहने की व्यवस्था मिलाइ गयी है । पिछले साल सभी साधुओं को धुनी सहित रहने की व्यबस्था थी ।
शिवरात्री के लिये पशुपति आए साधुओं ने सरकार पर उनलोगों को बेवास्ता करने का आरोप लगाया है। पहले सरकार व्दारा खाना, नास्ता और धुनी की व्यवस्था भी की जाती थी लेकिन इसवार ये सभी साधुओं को खुद करना परता है । लेकिन कोष के अनुसार वास्तविक साधुओं के लिये  खाने और रहने की व्बस्था मिलाने की जानकारी दी गइ है । कोष ने साधुओं को लौटते समय उन्हे कुछ बकसीस देकर बिदाई करने की व्यवस्था होने की जानकारी दी है ।

बाबाओं के चर्तिकला मुख्य आकर्षणsadhu
पशुपतिमा दर्शन के लिये गये लोगो  व्दारा दर्शन के साथ साथ नागा बाबा को भी देखने मे भिड लगी हुइ है । पशुपति क्षेत्र परिसर और बनकाली मे एसे बाबा व्दार जगह जगह पर अपनी चर्तिकला देखा रहें हैं । विदेशी पर्यटक  भी उनका क्रियाकलाप देखने मे व्यस्त हैं । खास करके अधिकांश युवा यही देखने के लिये पशुपति जातें हैं ।

pasupati-

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

avatar
  Subscribe  
Notify of
%d bloggers like this: