पाकिस्तान को आतंकी देश घोषित करने की मांग,पांच लाख लोगों के हस्ताक्षर

पाकिस्तान को आतंकी देश घोषित करने की मांग जोर पकड़ती जा रही है। अमेरिकी राष्ट्रपति के व्हाइट हाउस स्थित कार्यालय को पांच लाख लोगों के हस्ताक्षरों वाली ऑनलाइन पिटीशन इस बाबत प्राप्त हुई हैं।

पिटीशन (याचिका) में पाकिस्तान को आतंकवाद समर्थक देश घोषित करने की मांग की गई है। अमेरिकी व्यवस्था के अनुसार किसी मुद्दे पर एक लाख लोगों के मांग करने पर राष्ट्रपति कार्यालय की बाध्यता हो जाती है कि वह उसका जवाब दे। इस लिहाज से यह मांग पांच गुणा ज्यादा लोगों ने की है। इन ऑनलाइन पिटीशन की शुरुआत आरजी नाम के व्यक्ति ने 21 सितंबर को की।

राष्ट्रपति कार्यालय के जवाब के लिए 30 दिन के भीतर एक लाख लोगों की पिटीशन की जरूरत होती है। लेकिन यह जरूरी आंकड़ा हफ्ते भर से भी कम समय में पूरा हो गया और अब मांग करने वालों की यह संख्या पांच लाख तक पहुंच गई है। माना जा रहा है कि इस अभियान के तहत कुछ ही दिनों में व्हाइट हाउस में दस लाख पिटीशन पहुंचेंगी। पिटीशन स्वीकार करने की अंतिम तारीख 21 अक्टूबर है।

अभियान में शामिल अमेरिका की जॉर्जटाउन यूनिवर्सिटी की वैज्ञानिक अंजू प्रीत के अनुसार हम दस लाख लोगों को शामिल करने से पहले नहीं रुकेंगे। सूत्रों के अनुसार ओबामा प्रशासन इस मांग पर 60 दिनों में अपना रुख स्पष्ट करेगा। अंजू प्रीत के अनुसार अब समय कार्रवाई का है। इसलिए प्रत्येक व्यक्ति की जिम्मेदारी है कि वह खुद से जुड़े दस लोगों को पिटीशन भेजने के लिए प्रेरित करे। हमारा धन कल्याण कार्यो पर खर्च होना चाहिए, न कि आतंकवाद पर।

पिटीशन भेजने का यह अभियान सांसद टेड पो और डाना रोहरबेचर द्वारा प्रतिनिधि सभा में पाकिस्तान को आतंकी देश घोषित करने के प्रस्ताव पेश करने के बाद शुरू हुआ है।

 

loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz