पैगम्बर मोहम्मदका जन्मदिन हर्षोल्लास के साथ मनाया गया

पैगम्बर मोहम्मदका जन्मदिन हर्षोल्लास के साथ मनाया गया
12404111_986236044774529_963416720_nमनोज बनैता, लहान, २४ डिसेम्वर । मुस्लिम धर्मावलम्बी ने ईस्लाम धर्म के अन्तिम प्रवर्तक हजरत मोहम्मद सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम का जन्म दिन भव्यतापूर्वक मनाया है । ईस्लामी क्यालेण्डर हिजरी सम्वत का तीसरा महीना रविउलअव्वल को १२ तारीख का दिन अर्थात आज मुस्लिम समुदाय के लोगो ने मोहम्मद–डे मनाया है । ‘आका की आमद – मरहब्बा, मदनी की आमद – मरहब्बा’ नारा के साथ वृहस्पतिवार सिरहा के मुस्लिम समुदाय ने शान्ति ¥याली निकाल के लहान नगरपालिका परिक्रमा करते बारवी रविउलअव्वल पर्व ‘मोहम्मद–डे’ मनाया है । मुस्लिम धर्म प्रवक्ता के रुप में रहे पैगम्वर मोहम्मद का १४९०वाँ जन्मदिनके अवसर में सिरहा के मुस्लिम समुदाय हजारों की संख्या मे पैगम्बर का अनेक तरह के नारा के साथ हर्षोल्लासपूर्वक जन्मोत्सव मनाया है ।लहान ५ स्थित नयाँ बजार से शुरु हुई जुलुस लहान के विभिन्न क्षेत्र परिक्रमा करते पुनः नयाँबजार में जाके कोणसभा में परिणत हुआ था । कोणसभा में बोलते हुवे मदरसा दारुल ओलुम हनफिया असरफिया लहान–५ का मौलाना मुफ्ती मोहम्मद अहमद राज सकाफी– ‘नेपाल लोकतान्त्रिक गणतन्त्र में प्रवेश करके देश में धर्म निरपेक्षता की घोषणा खुशी की बात है लेकिन नेपाल सरकार इस बात को व्यवहार मे उतारें । उन्होंने हमारे पर्व मे राष्ट्रीय विदा में सरकारने कंजूसी करने के कारण पैगम्वर मोहम्मद के जन्म दिन को राष्ट्रिय विदा के रुप में घोषणा करने के लिए सरकार संग माँग की है । ’कोणसभा मे ंगरीव नवाज वेलफेयर सोसाइटी नेपाल का अध्यक्ष फिरोज सिद्दिकी ने ‘इस देश का नेता षडयन्त्र पूर्वक हमारी माँग को वेवास्ता करते आया है । मदरसा (मुस्लिम स्कूल) को सरकारी ऐन अनुसार दर्ता प्रक्रिया करने पर भी सरकार ने मान्यता देने पर भी दरवन्दी तथा सेवा सुविधा हाल तक बञ्चित करने का आरोप लगाया है । मुस्लिम समुदाय के पहचान को मधेशी वा अन्य समुदाय में न मिलाकर पृथक पहचान स्थापित करने में जोर दिया है । उन्होंने कहा है कि – मुस्लिम समुदाय का धर्म, संस्कृति और जाति का राष्ट्रीय पहचान के लिए मुस्लिम धर्म की सुरक्षा यथाशीघ्र पूरा करने के लिए सरकार संग जोरदार मांग किया है । ’इसीतरह मदरसा अहलेसुन्नत कादरिया लहान–२ के मौलाना मोहम्मद मुस्ताक अहमद के अनुसार– चाडपर्व के दिन मे राष्ट्रपति तथा प्रधानमन्त्री ने शुभकामना देने का चलन रहने पर भी हमारा धर्मगुरु पैगम्वर मोहम्मद के जन्मदिन के अवसर में राष्ट्र ने शुभकामना देने भी कंजूसी करने का आरोप लगाया है । मुस्लिम युवा क्लव के अध्यक्ष मो.इसराइल शेख ने कोणसभा मे बोलते हुवे कहा कि ‘ विगत करीव ५ महीना से अधिकार के लिए मधेश में जो आन्दोलन हो रहा है उक्त आन्दोलन को वर्तमान सरकार ने वार्ता के मार्फत मधेश का जायज मांग सम्बोधन करके अभी के जटिल अवस्था को सहज बना ने के लिए सरकार संग आग्रह किया है ।
नव निर्मित संविधान संसोधन प्रक्रिया द्वारा मुसलमान समुदाय को पृथक पहचान, मौलिक हक के रुप में मुस्लिम हक, राज्य के हरेक निकाय मे समानुपातिक एवम् समावेशी प्रतिनिधित्व, मुस्लिम स्वायत्त एवं संरक्षित क्षेत्र की घोषणा, मुस्लिम पारिवारिक कानुन, धर्मनिरपेक्षता, पूर्ण समानुपातिक निर्वाचन प्रणाली लगायत की मांग में सरकार गंभीरता पूर्र्वक समावेश करना चाहिए ऐसी धारणा वक्ताओं ने रखी ।

loading...