पोखरा मे अब संचालन नही होगा अल्ट्रफलाइट और प्याराग्लाइडिङ

काठमाण्डौ । 17 अप्रैल ।

देश की मूल पर्यटकीय नगरी पोखरा मे अब संचालन नही होगया
अल्ट्रफलाइट और प्याराग्लाइडिङ । पोखरा जानेबाले हर पर्यटक की पहली खुवाइस एक बार जरुर अल्ट्रफलाइट और प्याराग्लाइडिङ करना होता है । लेकिन अब यह ख्याइस पर्यटकौं की अधुरी रहनेवाली है । क्याें की अल्ट्रफलाइट और
प्याराग्लाइडिङ का संचालन अब बन्द होरहा है ।

flights-on-ultralights
पोखरा मे अन्तराष्ट्रिय विमानस्थल बनाने कअ कार्य का शिलान्यास होगया है और काम भी जोर तोर से होरहा है । आनेबाले ३ साल के अन्दर यहाँ बिमानको संचालन मे लाने की कोसिस जारी है ।
लेकिन यह सिलान्यास के साथ–साथ अभी सञ्चालित हो रहे हवाइ खेलकुद का भविष्य पर प्रश्न चिन्ह लगरहा है । हालाकीं पोखरा की प्रमुख पर्यटकीय आकर्षण केन्द्रबिन्दु प्याराग्लाइडिङ और अल्ट्रालाइट भी है । लेकिन, विमानस्थल के बनते ही यह दोनो गतिविधियाँ विस्थापित होजाएगी ।
हाल व्यावसायी ने सराङकोट तोरीपानी स्थित फेवाताल के किनारे से प्याराग्लाइडिङ और एर्यर्पोट से अल्टा«फलाइट की उडान करते आरहे है ।
लेकिन यह क्षेत्र अन्तर्राष्ट्रिय विमानस्थल की ‘एप्रोच ट्रयास’ मे परने
की वजह से अल्ट्रफलाइट और प्याराग्लाइडिङ  की उडान अब यह क्षेत्र से नही होगा ।
नियामक निकाय नेपाल नागरिक उड्यन प्राधिकरण के महानिर्देशक सञ्जीव गौतम ने हिमालीनी को बताया की ‘अन्तर्राष्ट्रिय उडान मे अवरोध होने के कारण इन सभी उडानौ कों हमे मजबुरण बन्द करना होगया’ उनहने कहाँ ‘अभी जो प्याराग्लाइडिङ उडाने का क्षेत्र है इस क्षेत्रको पुरी तरह से खाली करना हमारी प्राविधिक मजबुरी और बर्तमान डोमेष्टिक विमानस्थल भी एप्रोच के भीतर ही परने की वजह से हमे अल्ट्रफलाइट और प्याराग्लाइडिङ की उडान को
पुर्ण रुप से बन्द करना होगा ।’
उनके मुताविक ‘अन्तर्राष्ट्रिय उडान की चाप जिस समय नही हो उस समय नई विमानस्थल से अल्ट्रालाइट तो उडान की जासकती है लेकिन अन्तर्राष्ट्रिय उडान की चाप के समय किसि भी किसिम के अन्य उडान हम नही करवा सक्ते है’ ।
अन्तर्राष्ट्रिय नागरिक उड्यन संगठन (आइकाओ) के नियम के मुताविक अन्तर्राष्ट्रिय विमानस्थल की क्षेत्र में किसिभी किसिम के हवाइ गतिविधि सञ्चालन करना सक्त मना है ।
लेकिन पोखरा मे लाखौं पर्यटक को लोभाने बाली अल्ट्रफलाइट और प्याराग्लाइडिङ को  बन्द करने की फैसला पर पर्यटन ब्यवसायी ने नराजगी ब्यक्त कर रहै है । ब्यवसायी संघ के अध्यक्ष योगेश भट्टराई ने पोखरा से प्याराग्लाइडिङ÷अल्ट्रफलाइट के लिए सरकार से विकल्प देने की माग किया ।
हिमालीनी के साथ बातचित मे भटराई ने बताया की सरकारको चाहिए का इस के लिए बिकल्प की ब्यवस्था करे, महानिर्देशक गौतम ने १ वर्ष की समय देते हुवे
अन्य उपयुक्त विकल्प खोज्ने की सल्लाह भी दिया है ।

Loading...
%d bloggers like this: