Thu. Sep 20th, 2018

प्रदेश नं. २, प्रदेशसभा में क्या कहा प्रधानमन्त्री ओली ने ?

जनकपुरधाम, १८ अगस्त । प्रधानमन्त्री केपीशर्मा ओली ने प्रदेश नं. २ स्थित प्रदेशसभा को सम्बोधन किया है । उन्होंने अपने सम्बोधन में पुराने ही कथन को दुहराया है । प्रधानमन्त्री ओली को फिर भी कहना है कि आवश्यकता होने पर संविधान में संशोधन किया जाएगा । उन्होंने कहा कि सरकार संविधान संशोधन के लिए तैयार है ।
प्रधानमन्त्री ओली ने कहा– ‘संविधान ने किसी को भी विभेद नहीं किया है । अगर विभेद हैं तो उस में संशोधन करने के लिए सरकार तैयार है ।’ उन्होंने यह भी कहा कि जन्म के आधार में नागरिकता प्राप्त करनेवालों के सन्तानों को वंशज के आधार में नागरिकता देने के लिए कानुन निर्माण होकर संसद् में पहुँच गया है, जो कुछ दिन में ही पारित हो रहा है ।
प्रधानमन्त्री ओली ने प्रदेश नं. २ को प्रस्ताव किया है कि अब संघर्ष नहीं, सहकार्य के साथ आगे बढ़ना चाहिए । उन्होंने दावा किया कि केन्द्र सरकार विभेदकारी हो ही नहीं सकता, विकास के लिए भरपूर सहयोग करने के लिए तैयार है । उन्होंने दावा किया कि विकास बजेट सबसे अधिक प्रदेश नं. २ को ही दिया गया है । प्रधानमन्त्री ने कहा कि दिखाने के लिए भी वह प्रदेश नं. २ में ज्यादा विकास करना चाहते हैं । उन्होंने कहा कि अगले चुनाव में हुलाकी राजमार्ग सम्पूर्ण रुप में निर्माण सम्पन्न हो जाएगा ।
प्रधानमन्त्री ओली को मानना है कि संघीयता नेपाल के लिए नयां अभ्यास है, इसीलिए शुरु–शुरु में कुछ समस्या भी आ सकती है । केन्द्र, प्रदेश और स्थानीय निकाय के बीच रहे विरोधाभाष प्रति प्रधानमन्त्री को कहना है कि जो भी समस्या है, सम्वाद के द्वारा हल किया जा सकता है ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of