प्रधानमंत्री देउवा की राजकीय भारत यात्रा २३ अगस्त काे

काठमान्डू २ अगस्त

प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा  पाँच दिन की राजकीय यात्रा में  भारतीय समकक्ष नरेंद्र मोदी के निमंत्रण पर 23 अगस्त को भारत के लिए आरंभ करेंगे।  सूत्रों के अनुसार दोनों देशों के अधिकारी यात्रा कार्यक्रम, एजेंडा और प्रतिनिधिमंडल के आकार को अंतिम रूप देने के लिए काम कर रहे हैं ।  इस यात्रा के दाैरान पिछले हुए समझाैताें काे लागू करने पर ध्यान दिया जाएगा । प्रधानमंत्री कार्यालय के अनुसार यह कहा जा रहा है कि जाे परियाेजनाएँ दाेनाें देशाें के बीच बाधित हैं उन्हें पूरा करने की अाेर ठाेस कदम उठाए जाने की चर्चा की जाएगी अाैर साथ ही इस यात्रा से एक ठाेस परिणाम के अाने की उम्मीद की जा रही है ।   पंचेश्वर बहुउद्देशीय परियोजना के साथ ही अन्य ऊर्जा और बुनियादी ढांचे से संबंधित परियोजनाओं के बारे में कार्यसूची में पहला स्थान दिया जाएगा ।  1996 में, देउबा और उसके बाद भारतीय प्रधानमंत्री पी वी नरसिम्‍हा राव 1950 शांति और मैत्री संधि की समीक्षा करने और महाकाली संधि के कार्यान्वयन, पंचेश्वर बहुउद्देशीय परियोजना और इसके वित्तपोषण मॉडल, सप्तकाेशी उच्च बांध, सुनकाेशी विमुख होना, करनाली सहित  अादि विषयाे‌ पर तेजी लाने पर चर्चा की थी बहुउद्देशीय परियोजना और बूढीगंडकी पन बिजली परियोजना, पर बात हुइृ थी। 2002 में, दोनों पक्षों परस्पर कानूनी सहायता और प्रत्यर्पण संधि और नेपाल-भारत सीमा पर चार एकीकृत चेक पोस्ट के निर्माण के अद्यतन करने के लिए समझौते के प्रारंभिक निष्कर्ष के लिए सहमत हुए थे। दोनों पक्षों ने पंचेश्वर बहुउद्देशीय परियोजना के प्रारंभिक प्रारंभ करने के लिए कार्रवाई की एक योजना का आह्वान किया था। लेकिन डीपीआर अभी तक पूरा हो जाने की है।  देउबा १३ साल के बाद नई दिल्ली एक प्रधानमंत्री की हैसियत से यात्रा कर रहे हैं । प्रधानमंत्री भारत के बोधगया और तिरुपति बालाजी मंदिर के  दर्शन के लिए भी जाएँगे ।
loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz