प्रमुख तीन दल सात प्रदेश में सहमत, नेता गच्छदार देश में आग लगने की दी चेतावनी

विनय कुमार । अगस्त २१, काठमाडौं ।

६ प्रदेशीय खाका पर असन्तुष्ट दलों ने विरोध जताने पर प्रमुख तीन दल ने सात प्रदेश में सहमति किया है ।

andolan karoनेपाली कांग्रेस, नेकपा एमाले और एकीकृत माओवादी नें ६ प्रदेशीय सीमांकन में थोड़ा हेरफेर कर के सहमति किया है । आज शुक्रवार हुई विशेष समिति के बैठक में सात प्रदेश मे सहमति जुटाया गया है । पर्सा जिला के ठोरी गाविस को प्रदेश नम्वर ३ के राजधानी प्रदेश में रखा जाएगा । ‘थरुहट’ भूभाग रहे प्रदेश नम्वर ५ में गुल्मी, अर्घाखाँची, पाल्पा, प्युठान, रोल्पा और रुकुम जिला का आधा भाग रखने में सहमति हुई है । पहले का प्रस्ताव १,२,३ और ४ प्रदेश यथावत रखने का निर्णय भी किया है । प्रदेश का विस्तृत सीमांकन संघीय आयोग करेगा सम्वाद समिति के सभापति डा. बाबुराम भट्टराई ने ऐसा कहा ।

इसी बीच मधेसी जनअधिकार फोरम लोकतान्त्रिक के अध्यक्ष विजय कुमार गच्छदार नें ८ प्रदेश नहीं बनेगा तो देश मे आग लगने की चेतावनी दी है । आज सिंहदरवार में पत्रकार सम्मेलन में बोलते हुए गच्छदार नें कहा है कि कांग्रेस, एमाले और एमाओबादी का ७ प्रदेश नहीं मानेगें । ‘पहचान और सार्मथ्य बिना’ का सात प्रदेश नहीं मानेंगें, कांग्रेस, एमाले और एमाओवादी पहचान और सार्मथ्य को स्वीकार नहीं किया है उन्होंने आरोप लगाया । विशेष समिति से राजीनामा नहीं देने की बात भी अध्यक्ष गच्छदार ने स्पष्ट किया । संविधानसभा से बाहर नहीं जाएँगें लेकिन हो रहे आन्दोलन में अपने ही प्रकार की सहभागिता होने की धारणा रखी । मधेस के आन्दोलन में घुसपैठ होने की आशंका भी उन्होंने जताया । कांग्रेस और एमाले के नेता में गम्भीरता नहीं है कहते हुए गच्छदार कैलाली और कञ्चनपुर नेता देउवा को सन्तुष्ट करने के लिए सुदूर पश्चिम में रखने का आरोप लगाया । इसी तरह मध्यपश्चिम में सुशील को और पश्चिमाञ्चल मे रामचन्द्र पौडेल लगायत के नेता को खुश करने के लिए इस तरह से सीमांकन करने पर आक्रोश व्यक्त किया है ।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz
%d bloggers like this: