Wed. Sep 19th, 2018

फीफा विश्व कप 2018: बेल्जियम ने रोका ब्राजील का रास्ता, 2-1 से हराकर पहुंचा सेमीफाइनल में

७ जुलाई

2018 विश्व कप में किसके सर ताज सजेगा इसका अंदाजा अब तक नहीं लग पाया है। जर्मनी, अर्जेंटीना, स्पेन और पुर्तगाल के बाद अब पांच बार की विश्व विजेता ब्राजील भी क्वार्टर फाइनल से हारकर बाहर हो गई है। ब्राजील को क्वार्टर फाइनल में बेल्जियम ने 2-1 से हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई जहां उसका मुकाबला फ्रांस से होगा। कजान एरीना में खेले गए इस मुकाबले में ब्राजील को बेल्जियम ने अपने जवाबी खेल से मात दिया।

जवाबी हमला : पहले हाफ के शुरुआती 10 मिनटों में ब्राजील ने ताबड़तोड़ कई हमले बोले। आठवें मिनट में नेमार द्वारा ली गई कॉर्नर किक पर मिरांडा ने हेडर लगाया जिसके बाद गेंद थिएगो सिल्वा के पास गई। इस पर उन्होंने गेंद को नेट्स में पहुंचाने का प्रयास किया लेकिन गेंद गोल पोस्ट से टकराई और ब्राजील के हाथों से मौका निकल गया। इसके दो मिनट बाद ही पॉलिन्हो के हाथों से भी गोल करने का एक सुनहरा मौका हाथ से निकल गया।

उधर शुरुआती हमलों से घबराने के बजाय बेल्जियम ने जवाबी हमले किए और इसका परिणाम 13वें मिनट में देखने को मिला जब बेल्जियम को कॉर्नर किक मिली। विंसेंट कोंपानी की किक पर गेंद ब्राजील के मिडफील्डर फर्नांडिन्हो की कोहनी से लगकर उन्हीं के गोल पोस्ट में चली गई। अभी एक गोल से ब्राजील की टीम संभल पाती कि केविन डि ब्रून ने दूसरा गोल करके बेल्जियम को 2-0 से आगे कर दिया और ब्राजील की वापसी पर प्रश्न चिन्ह खड़ा कर दिया। फेलेनी ने हेडर के जरिये लुकाकू को पास दिया और वह गेंद को मिडफील्डर से लेकर ब्राजील के डी तक जा पहुंचे और फिर उन्होंने ब्रून को गेंद थमाई जिस पर उन्होंने एक तेज किक के जरिये शानदार गोल किया। हाफ टाइम तक बेल्जियम 2-0 से आगे रहा।

ब्राजील का इंतजार : पहले हाफ की तरह दूसरा हाफ भी ब्राजील के ताबड़तोड़ आक्रमण के साथ शुरू हुआ लेकिन  इसे ब्राजील की किस्मत कहें या फिर बेल्जियम के डिफेंडर और गोलकीपर की कोशिशों का नतीजा कि तमाम कोशिशों के बावजूद ब्राजील को गोल करने का मौका नहीं मिल पाया। 50वें मिनट में मार्सेलो से मिले पास पर फर्मिनो ने एक जोरदार किक लगाया लेकिन गेंद बेल्जियम के गोलकीपर कौर्टोइस थिबॉट ने गेंद को बाहर की ओर धकेलकर गोल के मौके को समाप्त किया। उधर नेमार और चोट से उबरने के बाद वापसी करने वाले मार्सेलो भी लगातार कोशिशों में जुटे रहे लेकिन वे भी बेल्जियम की डिफेंस की दीवार को नहीं भेद पा रहे थे। इसी बीच बेल्जियम के कप्तान इडेन हैजार्ड 62वें मिनट में जवाबी हमला बोला। ब्रून से मिले पास पर हैजार्ड ने गोल पर निशाना साधा लेकिन गेंद गोल पोस्ट के जरा सी बाहर से निकल गई।

अगस्तो ने जगाई उम्मीदें : 73वें मिनट में ब्राजीली कोच टीटे ने पॉलिन्हो की जगह रेनातो अगस्तो को मैदान में उतारा। मैदान में आने के तीन मिनट बाद ही उन्होंने गोल करके ब्राजील की वापसी की उम्मीदें जगा दी। कॉटिन्हो से मिले एक लंबे पर पर अगस्तो ने हेडर के जरिये गोल करके ब्राजील का खाता खोला। इसके बाद बेल्जियम पर दबाव बनना शुरू हुआ और ब्राजील की टीम में उर्जा का संचार हो गया। 78वें मिनट में फर्मिनो का पेनाल्टी एरिया से लगाया गया किक गोल पोस्ट के जरा सी ऊपर से निकल गया। इंजुरी टाइम में तो ब्राजील ने बराबरी हासिल कर ही ली थी लेकिन कौर्टोइस नेमार की कोण बनाती किक को गोल पोस्ट के ऊपर धकेल कर ब्राजील के मंसूबों पर पानी फेर दिया।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of