बजेट का हाल, सांसद तथा सरकारी कर्मचारीयों की सुविधा में बृद्धि

संवददाता, जेठ १२
सरकार ने आगामी आर्थीक वार्ष २०७३–७४ के लिए १० खर्ब ४९ अर्ब रुपैया बराबर के बजेट शनिबार को सार्वजनिक किया है ।
इस बार सरकार तथा निजी क्षेत्र दोनो की लगानी करने की क्षमता में कमी आ रही वर्तमान अवस्था में महत्वकांक्षी राजस्व के लक्ष्य रखने से ही साढे ३ खर्ब रुपैया घाटा सहित के बजेट पेश किया है ।

budget
जलविद्युत तथा सडक लगायत के पूर्वाधार को प्राधमिकता मे रखते हुए भी तकरिबन पाँच लाख भूकम्प पीडित अभी भी त्रीपाल के सहारे है जब की बजेट में सरकारी कर्मचारी तथा सासदों की सुविधा को बढ़ाया गया है ।
उत्पादन मूल्य क्षेत्र ९ प्रतिशत से घटने के बाद लिया गया राजस्व का ये लक्ष्य कठिन होने की बात विज्ञ व व्यापारी बताते हैं ।
इसी प्रकार पूर्ननिर्माण मे कोइ नया कार्यक्रम न लाते हुए बजेट के ५ पूर्वाधार में बडी रकम विनियोजन किया है । कृषि क्षेत्र में अनुदान और छुट बढाया गया है । पुँजीगत खर्च के तरफ ३ खर्ब ११ अर्ब रुपैया बिनियोजन किया गाय है । सरकार की आगामी वर्ष साढे ६ प्रतिशत आर्थीक वृद्धि होने तथा ७ दशम्लब ५ प्रतिशत मूल्य वृद्धिदर कायम रहने का महत्वाकांक्षी लक्ष्य है ।

loading...