बर्दिया के कृष्णसार संरक्षण क्षेत्रमे तारजाली टुट् गया

kriसन्दिप कुमार बैश्य, मंसिर २७ गते , बर्दिया
बर्दियामे रहा कृष्ण्ँसार संरक्षण्ँ क्षेत्रमे पिछले साल २०६९ साल जेष्ठ ५ गते राष्ट«िय योजना आयोगकी स्वीकृतिमे अर्थ मन्त्रालयने प्रदान किया २ करोडका लागतमे जाली तथा तारबार कररहे समयमे योजना पुरा नहोते ही  बिच–बिचमे जाली तथा तारबार टुट्न सुरु करदिया है।बदिर्याके गुलरिया नगरपालिका वार्ड नं. २ खैरापुरस्थित रहे कृष्ण्ँसार संरक्षण्ँ  क्षेत्रमे रहे कृष्ण्ँसार संरक्षण्ँके लिए सरकारने जाली तथा तारबार  किया हुआ डेढ साल नपहोचते ही कडा किसिमके संरक्षण्ँके अभावमे बिच–बिचमा टुट्न हुआ है । दुर्लभ बन्यजन्तुके सुचीमे सुचिकृत हुआ कृष्ण्ँसार संरक्षण्ँके लिए संरक्षण्ँ क्षेत्रमे लगाया हुआ जाली तथा तारबार  योजना पुरा नहाते ही बिच–बिचमे टुट् जानेपर सायद योजना पुर्णरुपमे पुरा होगा । कृष्ण्ँसार संरक्षण्ँके लिए इस ेक्षेत्रमे २०७० पुष २५ गतेतक जाली तथा तारबार  का काम पुरा हो जानेका मिति है मगर काम पुरा नहोते ही इधरउधर गाइबस्तुओद्धारा तथा आमपब्लिकद्धरा और आपसे ही आप टुट् रहा है। दिर्घकालिन रुपमे यद्ध. योजना सहित जाली तथा तारबार  किया हुआ इस क्षेत्रमे इस तरह जल्द टुट् जाएग तो कृष्ण्ँसार संरक्षण्ँमे समस्या उत्पन्न होगा । राष्ट«िय योजना आयोगकी स्वीकृतिमे अर्थ मन्त्रालयलने दिया हुआ बजेटको हम निर्धारण किया हुआ मितितक  जाली तथा तारबार का  योजना पुरा निर्माण्ँ करके प्राविधिक कमजोरी रहे जगहे पे और गाईभैसी तथा पब्लिकद्धारा टुट्े हुए जगहेपे फिर मर्मत करगे कृष्णसार संरक्षण्ँ ेक्षेत्र बर्दियाके अधिकृत मनोज शाहने बताया है । दुर्लभ बन्यजन्तु कृष्ण्ँसार संरक्षण्ँका लागि तारजालीका भी संरक्षण्ँ करन जरुरी है मगर चरिचरनके समस्या समाधान नहोनतक ये समस्या भी पुणर््ँ रुपमे समाधान नही होपाएगा अधिकृत शाहने बताया है ।तारबारका भी सकभर संरक्षण्ँके लिए हमलोग भी निगरानी कररहे है कृष्ण्ँसार संरक्षण्ँ ेक्षेत्रके कार्यालयने बताया है ।कृष्ण्ँसार संरक्षण्ँ ेक्षेत्रके तारबार संरक्षण्ँ करनेके लिए भी  इस क्षेत्रके आसपासमे ८६  उपभोक्ता समुहका कार्योजना कार्यान्वय और जनचेतनामुलक कार्यक्रमका बहुत जरुरत है अधिकृत शाहने बताया है । उन्होने कहा –आथिर्क अवस्था कमजोर होनेके कारण्ँ ४३ महिला, ४३ पुरुषोका समुह और विधान बना है मगर, कार्योजना नही बनपाया है । ३०३२ सालसे ९  कृष्ण्ँसार (हिरण)का संख्यासे सुरु किया इस समय इसका संख्या अभितकका एकदम उच्च ३०३ पहुचा है ।बर्ग ११६८ आबादी और ५२७ बर्ग किमी बन्यजन्तुको बासस्थान हुए क्षेत्रफल करके  कुल १ हजार ६ सय ९५ बर्ग किमी क्षेत्रफल रहे कृष्ण्ँसार संरक्षण्ँ क्षेत्रको सरकारने ०६५ साल फागुन २३ गते कृष्ण्ँसार संरक्षण्ँ ेक्षत्र घोषण्ाँ किया था  ।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz