Mon. Sep 24th, 2018

बर्दिया में विकास के लिये पारस्परिक सहयोग पर जोड


नेपालगञ्ज,(बाके) पवन जायसवाल, २०७४ असोज १३ गते ।
बर्दिया जिला के बढैया ताल गावपालिका वाड नं.२ साविक जमुुनी में असोज ८ गते को शिक्षा और स्वास्थ्य बिषय पर बृहत छलफल किया गया था |
उसमे वार्ड नं.१ के वार्ड अध्यक्ष शेर बहादुुर थापा ने अपनी वार्ड में रही सम्पूर्ण सामुुदायिक विद्यालय की अनुुगमन हो रही और मैंने शिक्षा क्षेत्र को गम्भीर रुप में देखा है बताया । इसी तरह वार्ड नं. २ के वार्ड अध्यक्ष केजिमान सुुनार ने अपनी वार्ड के विद्यालय की अनुुगमन होने की बात बतायी। आगामी बैठक में सो क्षेत्र की रही विद्यालय के प्रधानाध्यापक, शिक्षक और विद्यालय ब्यवस्थापन समिति के अध्यक्ष का शिक्षा की समस्या, सम्भावना और समाधान की उपाय के बारे में बृहत छलफल करने की प्रतिबद्धता समेत किया ।
इसकी साथ सूचना और मानवअधिकार अनुुसन्धान केन्द्र, कार्यालय की सकृयता में गठन हुई है सभा के संयोजक टिकाराम सुुवेदी ने सभी नागरिक समाज जुटकर अपनी स्थानीय जगाह को सु शासनमय बनाने की बात बताया । उसी तरह नवनिर्वाचित वार्ड सदस्य देवीसरा रैदास, पार्बती पोखरेल ने सब से अधिक शिक्षा और स्वास्थ्य क्षेत्र में जोड देना चाहिए और शिक्षा की क्षेत्र में सुुधार लाने की आवश्यक्ता रही है बताया । स्वास्थ्य चौकी के महेश कुुमार यादव ने स्वास्थ्य चौकी में प्रस्तुुित सेवा तुुरुन्त सञ्चालन होन की जानकारी दिया सोही कार्यक्रम में वार्ड सचिव उसमान साई ने जनप्रतिनिधि आने की बाद में काज में जल्द से जल्द सहज करने की बात बताया ।
इस स्थानीय सभा ने सार्वजनिक निकाय से प्राप्त सेवाए“ की प्रभावकारिता के लिये स्थानीय तह में हो सकनेवाली पैरवी और सरोकाकारवालों से समन्वय और सहकार्य करके कार्य में प्रभावकारिता बनाने की प्रयास करते आ रही है । पारस्परिक जवाफ देहिता कार्यक्रम अन्तर्गत सो स्थानीय सभा गठन किया गया है । स्थानीय तह में प्रवाह होना सामाजिक सेवा प्रभावकारिता, समस्या, चूनौती की पहिचान करना और सुधार की योजना वनाने में सहयोग करना इस उद्देश्य ने स्थानीय सभा गठन किया गया सूचना और मानवअधिकार अनुुसन्धान केन्द्र के जिला जवाफ देहिता अधिकृत सोम बहादुुर गुरुङ्ग ने बताया ।
कृषि, स्वास्थ्य, शिक्षा और विपत की क्षेत्र में सरकारी सेवा प्रभावकारिता, नीतिगत व्यवस्था और उस की कार्यान्वयन में दिखाई पडी समस्य और चूनौती की पहिचान करना और सेवा की प्रभावकारी वनाने में सहयोग की उद्देश्य ने सभा गठन कियका गया है । सभा की नियमित वैठक में कृषि, शिक्षा, स्वास्थ्य और विपत् सम्बन्धि समस्याए“ की पहिचन करके सो त्रैमासिक वैठक में छलफल करना और उस की समाधान न होने तक सवालें जिला में गठन हुआ सार्वजनिक तथा नीजि समूह में छलफल किया जायग । सभा की नियमित वैठक त्रैमासिक रुप में बैठक होगी । आगामी बैठक में वह स्थान में रहे सम्पूर्ण विद्यालय के प्राधनाध्यापक और विद्यालय ब्यवस्था समिति के अध्यक्ष विच शिक्षा की गुुणस्तर के बारे में छलफल करने की योजना बनाया गया है ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of