बहुमतिय सरकार निर्माण के आह्वन, नेताओं के बीच स्वार्थ हि स्वार्थ


हिमालिनी डेस्क
काठमांडू, ३१ मई ।
प्रधानमंत्री पुष्पकमल दाहाल प्रचण्ड द्धारा अपने पद से इतीफा दिए जाने के बाद संविधान की धारा २९७ सन्तान्बें की उपधारा २ के मुताबिक सहमति के आधार पर नई सरकार गठन करने के बिषय में बिचारबिमर्श सुरु किया गया हैं ।

राजनीतीक सहमति के आधार में नई सरकार गठन करने के बिषय में आज नेपाली काँग्रेस की संयोजन में संसद भवन नयाँ बानेश्वर में संसद से प्रतिनिध्त्वि करनेवालें दल के शीर्ष नेताओं के बिच बिचारबिमर्श हुवा । बैठक में प्रमुख प्रतिपक्षी दल नेकपा एमाले उपस्थित नही थें ।

प्रधानमंत्री का इतीफा राष्ट्रपति के समक्ष आने के बाद राष्ट्रपति विद्यादेवी भण्डारी ने संविधान के मुताबिक ७ दिनो के अन्दर राजनीतीक सहमति के आधार पर प्रधानमंत्री का चुनाव सम्पन्न कर निज की अध्यक्षता में मंत्रिपरीषद का गठन करने के लिए संसद में प्रतिनिधित्व करनेवालें दलों को इसी जेठ ११ गतें आह्वान किया था ।

बैठक के बाद प्रधानमंत्री पुष्पकमल दाहाल प्रचण्ड ने कहा बैठक में एमाले उपस्थित न होने से बैठक का उदेश्य पुरा नहीं हो पाया ।

काँग्रेस के सभापति शेरबशहादुर देउवा ने पत्रकारों के साथ बातचीत करतें हुए कहा सहमतिय सरकार बनाने की कोशीश हम जरुरत करेंगें और अगर ये संम्भव नहीं हो पाया तों हम बहुमतीय सरकार बनाएंगे ।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz
%d bloggers like this: