बाँके के वैश्य समाज की महिला व्दारा तीज उत्सव

नेपालगन्ज,(बाँके) पवन जायसवाल, भाद्र २३ गते ।
बाँके जिला के नेपालगन्ज में महिलायों का महान  पर्व हरितालिका तीज (कजली तीज) के अवसर में कसौंधन वैश्य समाज ने पहली बार  शनिवार को  तीज उत्सव कार्याक्रम का आयोजन किया ।
कसौंधन बैश्य समाज बाँके जिला की  महिला मञ्च नेपालगन्ज ने तीज उत्सव अपनी  समाजकी महिलाए के वीच  में विभिन्न किसिम का प्रतियोगिता और नृत्य का  आयोजन करके तीज उत्सव मनाया मञ्च की अध्यक्ष संगीता वैश्य ने बतायी ।
महिलायें को सशक्तिकरण और उन लोगों में रही  प्रतिभा को  उजागर करने  के उद्देश्य से पहली बार  सार्वजनिक और सामूहिक रुप में तीज उत्सव का आयोजन किया गया  अध्यक्ष वैश्य ने बतायी ।  उसी  अवसर में नृत्य के साथ– साथ मेंहदी प्रतियोगिता, लोक गीत प्रतियोगिता, और धार्मिक ग्रन्थ में आधारित  हाजिरी जवाफ प्रतियोगिता में मुख्य अतिथि महिला मञ्च की पूर्व उपाध्यक्ष कुन्ती देवी वैश्य, अतिथियों में रमारानी वैश्य, श्रीमती रामुदेवी वैश्य आतिथ्य में सम्पन्न हुआ  कार्यक्रम में वैश्व समाज के ३ सौ से अधिक महिला की सहभागिता रही थी ।
समाज की अध्यक्ष संगीता वैश्य के सभापित्व में सम्पन्न कार्यक्र मे  नेपालगन्ज– ११ में रहा  किन्नुराम काशीराम पञ्चायती धर्मशाला के संयोजक नन्दलाल वैश्य ने ऐसा साँस्कृतिक चेतनाओं के साथ समाज की महिलाए में एक  सशक्तिकरण के लियें भी  हरितालिका तीज (कजली) ने एकदम महत्वपूर्ण भूमिका रही है और वैश्य समाज की मधेशी महिला ने पहली बार ऐसा अग्रसर होना तो समाजिक परिर्वतन का संकेत है और  आने वाले दिनों में इस प्रकार का उत्सव को और भव्य व्यापकता, नियमितता में भी  लेजाने के लियें  जोड दिया ।
महिला मञ्च की अध्यक्ष संगीता वैश्य ने कही पहाडी समुदाय मे मात्र मनाने वाला तीज (कजली) पर्व मधेशी समुदाय की महिलाएँ भी  व्रत और पूजा आराधना करके मनाती है लेकिन इस तरह और सामूहिक रुप में केवल पहली बार मनाया गया बताते हुयें हमारी संस्कृति एक है, लेकिन मनाने का तौर तरीका केवल फरक रहा है अपना विचार व्यक्त कीया  । इस प्रकार के कार्यक्रमों से वैश्य समाज की महिलाए में एक नया जागरण आएगा और सामाजिक सद्भाव की भी अभिवृद्धि होगी उन्होने बताया ।
इसी तरह  कसौधन वैश्य समाज के अध्यक्ष स्वामी दयाल वैश्य, महासचिव अमूल्य वैश्य, उपाध्यक्ष सन्तोष कुमार वैश्य, कोषाध्यक्ष सुनील कुमार बनिया लगायत लोगों की सक्रिय सहभागिता रही थी । मधेशी महिलाए की  रुप में रही  कसौंधन वैश्य महिला मञ्च लन इस प्रकार की आयोजन पहली बार की और यें महिलाए में जागरुकता लाएगा और आने वाले दिलों में महिलाए“ ने भी  विभिन्न्ँ क्ष्ँेत्रों में अपना  अहम भूमिका निर्वाह कर सकती है कहकर  जानकारी मूल समिति के महासचिव अमूलय वैश्य ने यह जानकारी दी  ।
इसी क्रम में बा“के जिला नेपालगन्ज– ४ के निवासी तथा नेपालगन्ज भंसार कार्यालय के  एजेन्ट नन्कु प्रसाद वैश्य ने अपनी  धर्मपत्नी स्वः पार्वती देवी वैश्य की यादगारों में नेपालगन्ज– ११ स्थित किन्नुराम काशीराम पञ्चायती धर्मशाला को दुसरे तला  निर्माण  करने के लियें दो लाख एक हजार रुपैया दान किया आयोजक ने जानकारी दी ।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz