बाँके जिला में चेतनामूलक सडक नाटक का प्रदर्शन

aa bb cc dd ee ffनेपालगन्ज(बाँके) पवन जायसवाल, चैत्र १९ गते ।
मीरेष्ट नेपाल (सञ्चार संस्था )ने पश्चिम नेपाल की तराई क्षेत्र के विभिन्न जिला में ‘लैङगिक उत्तरदायी हाम्रो बजेट’ नामक चेतनामूलक सडक नाटक का प्रदर्शन किया है ।
बाँके जिला के खासकारकाँदौं  गाविस के लगदहवा माध्यमिक विद्यालय और  भुजई गावँ के पाटेश्वरी राष्ट्रीय प्राथमिक विद्यालय में चैत्र १९ गते बुधवार को प्रदर्शन किया गया ।
सडक नाटक में चचिर्त टेली फिल्म मेरी बास्सै के कलाकार सुरबीर पण्डित ”दारी बा“, नीरु खड्का “निर्मली”, रङ्गकर्मी प्रमिला कटवाल, गायक जे. पापी ने सडक नाटक में अभिनय किया था ।
उसी अवसर पर मीरेष्ट नेपाल के दृश्य सम्पादक तथा उत्पादक कृष्ण मुरारी पुडासैनी, कार्यक्रम अधिकृत सुमन पुडासैनी, सामाजिक सहजकर्ता पुष्पलता श्रीवास्तव, ललिता जैसी, चित्रा केसी लगायत लोगों ने अपना– अपना विचार भी व्यक्त किया था ।
कार्यक्रम के बाद में ग्रामीण आर्थिक सामाजिक उत्थान केन्द्र की कार्यक्रम संयोजक लता शर्मा, ओम कुमारी थापा, राजेश्वरी गिरी, रेडिया बागेशवरी एफ. एम. के पत्रकार कृपाराम बाडिया लगायत लगायत लोगों ने प्रतिक्रिया भी व्यक्त किया था ।
सरकारी तथा स्थानीय निकाय से प्रवाह होने वाला बजेट, सेवा तथा अवसर को समानुपातिक तथा समावेशी विकास के लिये  लक्षित वर्ग को होसियार करने  के लिये सन्देश लेकर यह सडक नाटक इस पहले बर्दिया, कैलाली, सुनसरी और धनकुटा जिला के विभिन्न गाविसओं में प्रदर्शन किया गया और इसे सकारात्मक प्रतिक्रिया मिला है मीरेष्ठ नेपाल के महासचिव कुमार यात्रु ने बताया ।
पत्रकार कुमार यात्रु का कथा और सम्वाद में आधारित  गीति सडक नाटक के निर्देशन निरु खड्का “निर्मली” ने कि थी । लैंगिक उत्तरदायी बजेट सम्बन्धी जनचेतना फैलाने  के उदेश्यों से चैत्र १७ गते सोमवार  को कैलाली जिला के गेटा गाविस स्थित श्रीलंका गावँबस्ती में और चैत्र १८ गते मंगलवार को गेटा गाविस कार्यालय के भवन में हाम्रो बजेट नामक गीति नाटक प्रदर्शन किया था क ।
सडक नाटक प्रदर्शन के क्रम में सर्वसाधारणों ने मनोरञ्जन के साथ  साथ में ज्ञान को बढाने में भी सहयोग किया प्रतिक्रिया दिया था । गायक जे. पापी ने गीत प्रस्तुत करते समय  दर्शकों ने भी कलाकार के साथ में खूब झूमझूमकर नाचे थे ।
उन्हों ने अपनी प्रस्तुति के बाद प्रतिक्रिया देते हुये स्रोता तथा दर्शक के समक्ष प्रत्यक्ष अन्तरक्रिया करके कला प्रस्तुत करते समय हम को बहुत ही आनन्द आया और जीवन में एक सार्थक काम भी किया बताया ।
सडक नाटक प्रदर्शन स्थलों में कलाकारों के साथ फोटो खिचाने और टिभि के पर्दा में मात्र देखनेवाले  कलाकारों के साथ नाँचने के लिये  उत्सुक होकर सहभागी हुये थे ।
इसी तरह की सडक नाटक चैत्र १६ गते आइतवार को बर्दिया जिला के डेउढाकला गाविस कार्यालय के भवन में भी प्रदर्शन कियाा गया था उस में सडक नाटक देखने के लिये उत्साहजनके  दर्शकों की सहभागिता रही थी  ।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz
%d bloggers like this: