बाँके जिला में मोस्ट वान्टेड सिकन्दर अली खाँ पकडा गया

sikindrali khanनेपालगन्ज,(बाँके) पवन जायसवाल, अगहन १५ गते ।
बाँके जिला में मोस्ट वान्टेड के लिस्ट में रहे भूमिगत समूह के एक कुख्यात अपराधी को प्रहरी ने बिहीवार अगहन १३ गते को पकड लिया है ।
बाँके जिला के रनियापुर गाबिस– ५  निवासी सिकन्दर अली शेष (खाँ) के साथ एक भारतीय नागरिक को भी हथियार के साथ पकडा है । ५ वर्ष पहले  दर्जनो  अपराधिक कार्य में संलग्न रहे और अभियोग मे सजाय काटते रहे सिकन्दर को तत्कालिन सरकार ने राजनीतिक कारणों से रिहा कर दिया था ।
रिहा होने के बाद में तराई के सशस्त्र समूह से जुडकर सिकन्दर ने ४ लोगों की हत्या, दो लोगों का अपहरण और फिरौती सहित एक को हत्या का प्रयास किया था । इसी तरह उनके उपर कइ अभियोग  है ।
बिहीवार अगहन १३ गते को बाँके जिला के नेपालगन्ज में पत्रकार सम्मेलन करके अञ्चल प्रहरी कार्यालय के प्रमुख वरिष्ठ प्रहरी उपरीक्षक मधु पुडासैनी ने प्रहरी नायब उपरीक्षक प्रकाश मल्ल के कमाण्ड में रही क्षेत्रीय प्रहरी कार्यालय सुर्खेत, भेरी अञ्चल प्रहरी कार्यालय नेपालगन्ज और जिला प्रहरी कार्यालय बाँके के विशेष अनुसन्धान से सिकन्दर को अगहन १२ गते बुद्धवार रात को पकडेजाने की जानकारी दी गइ है। स्रोत के अनुसार  भारतीय सुरक्षा बल एस.एस.बी. के सहयोग से पकडा गया है । और नेपाल प्रहरी ने बताया है कि होलिया गाबिस ९ के पास सडक चेकजाँच करते समय में रिवल्भर के साथ सिकन्दर को और उनके वाडीगाड एक भारतीय नागरिक श्रावस्ती जिला ग्राम हसनपुर वर्ष ३५ वर्ष के सलीम खाँ को बिना नम्बर की मोटर साइकल के साथ पकडा गया ।
सिकन्दर के उपर पहला संबिधान सभा चुनाव में बाँके जिला के क्षेत्र नं. २ राष्ट्रीय जनमोर्चा नेपाल के उम्मेदवार कमल अधिकारी को २०६४ साल चैत्र ६ गते गोली मार कर हत्या करने का आरोप है । २०६३ साल चैत्र १४ गते बेतहनी गाबिस  नौरीगौडी के  मधेशी जन अधिकार फोरम के स्थानीय नेता माता प्रसाद कुर्मी की हत्या की प्रहरी ने जानकारी दी ।
इसी तरह २०६६ साल कार्तिक २८ गते इन्द्रपुर गाबिस– ७ स्थित खजुरा खुर्द गाबिस–१ के गंगाराम पासी और मुन्नु कहकर मुन्ना यादव को गर्दन काटकर हत्या में संलग्न रहे । उसी के ३ महीने के बाद में बागेश्वरी गाबिस – २ के प्रकाश श्रेष्ठ को गोली क्मारकर हत्या का आरोप, उसके दो महीने के बाद चैत्र १२ गते नेपालगन्ज स्थित महेन्द्र बहुमुखी क्याम्स के तत्कालीन क्याम्स प्रमुख राजीतराम पाठक को अपहरण किया गया । वे सिकन्दर को १५ लाख फिरौती रकम देकर अपहरण मुक्त हुयें थे ।
इसी तरह प्रहरी के अनुसार गत वर्ष भदौ महीने २४ गते उदयपुर गाबिस –५ के निवासी देवेन्द्र शर्मा क, अपहरण करके ७ लाख रकम भी असूल किया स्वीकर भी किया है । गत वर्ष नेपालगन्ज उद्योग वाणिज्य संघ नेपालगन्ज चुनाव को भडकाने के लियें २०६९ साल फागुन १० गते एक उद्योग के सुरक्षा गार्ड खजुराखुर्द – ४ के दल बहादुर थापा को गोली मारकर हत्या, उसे पहले माघ महीने के ११ गते नेपालगन्ज– १ के निवासी रामलीला मैदान में गौरव मल्ल को गोली मारकर गम्भीर घायल किया था । सिकन्दर के वाडीगाड के पास मे एक कटुवा पेस्ताल और दो गोलिया“ भी बरामद किया है सिकन्दर के पास से से मेड ईन जर्मनी लिखा हुआ १३१३२३२ नं. उल्लेख हुआ रिभल्वर और और  दो गोलिया“ बरामद किया बा“के जिला पैहरी कार्यालय नेपालगन्ज के प्रमुख प्रहरी उपरीक्षक भूपाल कुमार भण्डारी ने जानकारी दिया ।
सिकन्दर ने ही तत्कालिन पश्चिम प्रमुख रहे अर्जुन सिंह सिख उर्फ भगत सिंह के उपर  गोली मारा था । सिकन्दर को जान मुद्दा,अपहरण मुद्दा, हाथहथियार मुद्दा, शरीर बन्धक औरु खरखजाना के अनुसार कारवाही करने की बात प्रहरी ने जानकारी दी है ।

loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz