Wed. Sep 26th, 2018

बाके में मूर्ती विर्सजन साथ ही ताजिया दफन (बिर्सजन) भी

नेपालगन्ज,(बाके) पवन जायसवाल, २०७३ असोज २६ गते ।
बाके जिला के विभिन्न स्थानों में घटस्थापना के दिन प्रतिस्थापन किया गया नव दुर्गा मूर्ती की असोज २६ गते बुद्धवार को  जिला के सदरमुकाम नेपालगन्ज से करीब १० किलोमीटर दूर राप्ती नदी की सिंधनिया घाट में विर्सजन किया गया । इसी तरह नेपालगन्ज उपमहानगरपालिका–५ गणेशपुर चौक में रक्खा गया ६८ फीट उचाई की ताजिया भी आज विर्सजन किया गया है ।

????????????????????????????????????
विगत ६ वर्ष से गणेशपुर में सब से बडी ताजिया रखते आ रहें है । नेपाली ८० हजार रुपैया में भारत से वह ताजिया नेपालगन्ज में लाया गया है लाते समय पर नेपालगन्ज भन्सार में राजस्व भी देंना पडा है संयोजक एनुल जेदा सल्मानी, सह संयोजक फकिरे राई और सल्लाहकार में तराई मधेश लोकतान्त्रिक पार्टी के महामन्त्री पशुपति दयाल मिश्र रहें है बिगत ६ वर्ष से ताजिया रखते आ रहें है आयोजक ने बताया है ।
दुर्गा माता की मुर्ती बाके जिला की राप्ती नदी की सिधनिया और अगैया में लेकर विर्सजन किया जाता है ।

 

 

 

मुस्लिम समुदाय लोग नेपालगन्ज–७ फुल्टेक्रा और पुरैनी नहर नजदीक की कर्वला में ताजिया दफन (बिर्सजन) करने की चलन रही है । मूर्ती विर्सजन करने के लिये ट्रक, ट्याक्टर लगायत की साधन प्रयोग करके अधिक सङ्ख्या में भक्तजन लोगों ने राप्ती नदी तर्फ प्रस्थान किये है । सम्भावित घटनाए“ को मध्यनजर करते हुये बिभिन्न जगह में प्रहरी परिचालन किया गया है । सिंधनिया घाट, अगैया लगायत मूर्ती विर्सजन स्थल में भी ज्यादा संख्या में प्रहरी परिचालन किया गया जिला प्रहरी कार्यालय बा“के की प्रहरी निरीक्षक वीरबहादुर थापा ने जानकारी दी है । दुर्गा मूर्ती विर्सजन और मुस्लिम समुदाय की ताजिया विर्सजन एक ही दिन पडा है । सामाजिक सद्भाव कायम रख्ने के लिये जिला में बैठी सर्वदलीयत बैठक की निर्णय अनुसार, दुर्गा मुर्ती विर्सजन के बाद ताजिया विर्सजन किया जाएगा ।

????????????????????????????????????

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of