बाढ से बदहाल बिहार : बचाव में उतरी सेना

अगस्त १४

लगातार बारिश से बिहार में बाढ़ की स्थिति गंभीर हो गई है। सीमांचल, कोसी और उत्तर बिहार के जिलों में स्थिति भयावह हो गई है। जोगबनी, कटिहार और किशनगंज में कई रेलवे स्टेशन और ट्रैक डूब गए हैं। बिहार और नेपाल में हो रही भारी बारिश से बिहार की छोटी-बड़ी नदियां उफना रही हैं और कई तटबंध टूट गए हैं। उधर उत्तर प्रदेश में नदियां लगातार खतरे के निशान से ऊपर बह रहीं हैं। रविवार को श्रावस्ती में तीन और बाराबंकी में एक व्यक्ति की डूबने से मौत हो गई। दूसरी ओर उत्तर बंगाल में भारी बारिश से अधिकांश जिलों में बाढ़ की स्थिति गंभीर हो गई है। कूचबिहार, मालदा, उत्तर दिनाजपुर समेत कई जिलों में नदियां उफान पर हैं।बिहार के बिगड़ते हालात से परेशान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविवार सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से फोन पर बात कर केंद्र की मदद मांगी। मुख्यमंत्री ने केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह और रक्षा मंत्री अरुण जेटली से भी बात की। इसके बाद बचाव और राहत कार्य के लिए सेना उतार दी गई। कोसी व सीमांचल के जिलों में हजारों घर डूबे हुए हैं और कई इलाकों में रेल, बिजली और दूरसंचार सेवा ठप है। कटिहार का पूर्वोत्तर के राज्यों से रेल संपर्क भंग हो गया है। पूर्णिया, कटिहार और किशनगंज जिले में राहत और बचाव कार्य में सेना लगाई गई है। उधर सुपौल में दीवार गिरने से दो और जमुई में एक व्यक्ति की मौत हुई है।

सहरसा में डूबकर दो और अररिया व मधेपुरा जिले में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है।आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव ने बताया कि मुख्यमंत्री से रक्षा मंत्री अरुण जेटली की बातचीत के बाद दानापुर कैंट से सेना के जवान सीमांचल भेज दिए गए हैं। उप्र के सैकड़ों गांवों में घुसा बाढ़ का पानी उत्तर प्रदेश में नदियों का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। सैकड़ों गांवों में बाढ़ का पानी घुस गया है और आवागमन अवरुद्ध है। श्रावस्ती में राप्ती नदी लगातार बढ़ रही है। यहां अलग-अलग क्षेत्रों में तीन लोगों की डूबने से मौत हो गई। वहीं बाराबंकी में घाघरा नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। जीवल गांव में एक युवक की डूबने से मौत हो गई। उत्तर बंगाल में बारिश से और बिगड़े हालात उत्तर बंगाल में भारी बारिश से हालात दिन-ब-दिन बिगड़ते जा रहे हैं। अधिकांश जिलों में बाढ़ की स्थिति गंभीर हो गई है। विभिन्न जगहों पर नदी तटबंध टूटने से सैकड़ों गांवों में पानी घुस गया है। इस बीच रायगंज जिले में सुबीर भगत नाम के दो साल के बच्चे की नाले में गिरने से मौत हो गई। जबकि कूचबिहार में नदी के तेज बहाव में बहने से एक युवक की मौत हो गई। दूसरी ओर किशनगंज रेलवे स्टेशन समेत कई जगहों पर ट्रैक पर पानी जमने से ट्रेनों की आवाजाही कम हो गई है .रेलवे सूत्रों के अनुसार उत्तर पूर्व रेलवे के इस रूट से चलने वाली 22 ट्रेनों को रद कर दिया गया है। असम में 10 की गई जान असम में रविवार को बाढ़ की स्थिति और खराब हो गई। यहां बचाव कार्य के लिए सेना को बुलाया गया है। राज्य में बाढ़ से 10 और लोगों की मौत हो गई है। वहीं राज्य के 21 जिलों में 22.5 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हैं।

पिथौरागढ़ और कोटद्वार में फटे बादल

उत्तराखंड के पौड़ी जिले के कोटद्वार और पिथौरागढ़ में बादल फटने से ग्रामीणों में दहशत है। पिथौरागढ़ जिले के धारचूला में रविवार देर शाम बादल फटने से ढुंगातोली गांव के कई घरों और खेतों में मलबा घुस गया। वहीं कोटद्वार में रविवार तड़के एक सप्ताह में तीसरी बार बादल फटने से ग्रामीण घबराए हुए हैं।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz
%d bloggers like this: