बारिश के लिए बिना कपडाें के खेती

१८ सितम्बर

भारत के कई इलाकों में सूखे की समस्या हमेशा बनी रहती है। जिसकी सीधी मार किसानों पर पड़ती है। भारत में हर चीज़ को देवताओ से जोड़ के देखा जाता है और बारिश के देवता हैं भगवान इन्द्र।ऐसे में कई बार उनको मनाने के लिए लोग यज्ञ करते हैं, पूजा करते हैं लेकिन बारिश के लिए बिहार में किसानों ने इस समस्या का बहुत ही अजीबो गरीब हल निकाला है।किसान अपनी कुंवारी लडकियों से खेतों में बिना कपडों के नंगे बदन हल चलवा रहे हैं। वो भी इसलिए क्योंकि उनका मानना है की इससे बारिश के देवता को शर्मिंदा किया जा सकता है और बारिश करने के लिए उन्हें मजबूर किया जा सकता है।इन इलाकों में मानसूनी बारिश की जबरदस्त जरूरत है ताकि खेतों में बुवाई की जा सके। ग्राम पंचायत अधिकारी उपेंद्र कुमार ने बताया की बिहार के खेतों में सूर्यास्त के बाद देवताओं का आह्वान करने के लिए लड़कियां बिना कपड़ों के नग्न होकर खेतों को जोतती हैं और इसके दौरान वे प्राचीन भजनों का जाप भी करती हैं।ग्रामीणों का मानना है की ऐसा करने से देवता जरूर मान जाएंगे और उन्हे अच्छी फसल होगी।किसानों ने शपथ ली है कि जब तक जबरदस्त बारिश नहीं होती है, वे इस प्रथा को जारी रखेंगे।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz
%d bloggers like this: