बिहार के 8 राजनीतिक दलों की मान्यता हुई रद्द

img-20161224-wa0005
*पटना.मधुरेश*- केंद्रीय चुनाव आयोग ने बिहार के आठ राजनीतिक दलों को अमान्य करार दिया है। दरअसल आयोग ने देश भर के 250 से भी ज्यादा पार्टियों को अमान्य ठहराया है। इनमें बिहार की भी आठ पार्टियां भी शामिल हैं। आयोग ने जिन पार्टियों को अमान्य करार दिया है उनमें पूर्व सांसद आनंद मोहन की बिहार पीपुल्स पार्टी, भाजपा के पूर्व राज्यसभा सांसद जनार्दन यादव की बिहार विकास पार्टी, पूर्व राज्यसभा सांसद नरेंद्र सिंह कुशवाहा की जनहित समाज पार्टी, भारतीय जन विकास पार्टी, भारतीय प्रजातांत्रिक पार्टी, पूर्व विधायक दीलीप वर्मा की चंपारण विकास पार्टी, राष्ट्रीय स्वजन पार्टी एवं विजेता पार्टी शामिल हैं।
केंद्रीय चुनाव आयोग ने केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) को गुरुवार को लिखे पत्र में निर्देश दिया है कि वह इन 255 राजनीतिक दलों के वित्तीय ब्योरे की जांच करे। चुनाव आयोग के अनुसार वर्ष 2005 और 2015 के बीच चुनाव में कोई भी प्रत्याशी नहीं उतारने के वजह से दलों को असूचीबद्ध कर दिया गया था।
आयोग ने कहा है कि यदि कानून का उल्लंघन पाया जाए तो जन प्रतिनिधित्व कानून 1951 की धारा-29-बी और 29-सी के प्रावधानों के मद्देनजर कार्रवाई की जाए। विगत दस वर्षों से इन दलों के टिकट पर कोई प्रत्याशी चुनाव मैदान में नहीं उतरा है।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
%d bloggers like this: