बृहतर मधेसी मोर्चा मे मतभेद, नाराज सदस्यों ने उपेन्द्र यादव को काग्रेस का दलाल बताया

बृहत मधेसी मोर्चा के कुछ सदस्यों ने पत्रकार सम्मेलन करके इसके अद्यक्ष उपेन्द्र यादव और नेता शरतसिहं भण्डारी पर संघियता विरोधी पार्टी से मिलने का आरोप लगाया है। पत्रकार सम्मेलन मे रामरिझन यादव,प्रभु साह,आत्माराम साह तथा रामाशीष गुप्ता के साथ कइ अन्य नेता भी मौजुद थे । उनका आरोप था कि उपेन्द्र यादव और नेता शरतसिहं भण्डारी कांग्रेस और एमाले जो की मधेस विरोधी पार्टी है से मिल कर प्रधानमन्त्री का इस्तिफा माग रहे हैं। इनलोगों ने दोनो नेताओं पर करवाइ होने की भी बात बतायी । स्मरणिय है की उपेन्द्र यादव और नेता शरतसिहं भण्डारी रविवार रात को कांग्रेस और एमाले के साथ राष्ट्रपति से मिलकर बाबुराम भट्टराइ की सरकार को पदच्युत करने की मांग की थी।
नवगठित बृहत मधेसी मोर्चा इस वीच दवाब समुह के रुप मे बहुत अच्छा काम कर रही थी । लेकिन संविधानसभा विघटन के तुरन्त बाद ही इसमे व्यक्तिगत स्वार्थ सामने आ खरा हो गया और एकबार फिर उपेन्द्र यादव विना सोचे समझे अपनी पुरानी पहचान दिखाने लगे । हलाकि उन्होने अलग दावा करते हुये कहा है कि वे राष्ट्रपति से पार्टी अध्यक्ष के नाते भेट किया है नाकि मोर्चा के अद्यक्ष के नाते । पार्टी अध्यक्ष के नाते उन्हे किसी से सल्लाह लेने की जरुरी नही है।उन्होने कहा कि प्रधानमन्त्री के करिबि लोग पार्टी फुटने का अफवाह फैलारहे हैं।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

avatar
  Subscribe  
Notify of
%d bloggers like this: