बेडरूम की इन बातों को अनदेखा न करें, बहुत जरूरी है पार्टनर के लिए

बेडरूम की इन बातों को अनदेखा न करें, बहुत जरूरी है पार्टनर के लिए
पति-पत्नी के दांपत्य सुख पर बेडरूम का पूरा असर पडÞता है। आपके और पार्टर्र्र के बीच कोई तीसरा न हो इसके लिए आपको बेडरूम की छोटी-छोटी बातों पर ध्यान देना चाहिए। अगर आप चाहते है कि पति, पत्नी और वो की स्थिति न बनें तो वास्तु के अनुसार इन बातों पर ध्यान दें इससे आप अपने पार्टनर को खुश और सुखी रख सकते हैं।
बेडरूम का जीवन सुखी और प्यार भरा हो इसलिए वास्तु में कई उपयोगी टिप्स बताई गई हैं। इन बातों को अपनाने से वैवाहिक जीवन में खुशियां और संपन्नता बनी रहती है। पति-पत्नी अपने बीच किसी तीसरे व्यक्ति को हरगिज बर्दाश्त नहीं कर सकते लेकिन कुछ लोगों को ऐसी परिस्थिति का सामना करना पडÞता है।
-किसी के भी बेडरूम में यदि कोई दर्पण लगा है और उस दर्पण में बेड या पलंग का प्रतिबिंब दिखता है तो यह रिश्तों में खटास पैदा कर सकता है। बेड के सामने यदि कोई दर्पण हो तो पति-पत्नी को चाहिए कि रात को सोते समय उस शीशे को ढंक दें, उस पर कोई पर्दा डालकर रखें।
पिति-पत्नी पर्ूव या दक्षिण में सिर रख कर सोना चाहिए इससे मन स्थिर रहता है।
अिपने बेडरूम में जूठे बर्तन नहीं रखें।
बिेडरूम की दिवारों पर नीला रंग नहीं होना चहिए।
अिापकी बेडशिट का रंग पिंक, क्रिम या कोई हल्का रंग होना चाहिए।
उम्र पर न जाएं लाइफ एंजाय करना है तो कमरे को ऐसा बनाएं
वास्तु के अनुसार हर उम्र के लोगों के लिए अलग-अलग तरह का कमरा होना चाहिए। घर के हर कमरे से एक अलग सकारात्मक और नकारात्मक उर्जा निकलती है। वास्तु के अनुसार कमरों से निकलने वाली ये उर्जा हमारी जीवनी शक्ति पर असर डालती है।
वास्तु के अनुसार कमरे को बदल दिया जाए तो आप में नई उर्जा का संचार होने लगेगा। इससे बढÞती हर्ुइ उम्र भी थम सी जाती है। इससे आपके विचार और भावनाएं बदल जाती हैं। जिंदगी को खुल के जीने की शक्ति और उतसाह मिलने लग जाता है। अगर आप बोर हो चुके हैं अपनी घिसी-पिटी जिंदगी से, आप चाहते हैं कि आपका जीवन जिंदगी के नए रंगों में रंग जाए तो वास्तु के अनुसार अपने कमरें को कुछ इस तरह सजाएं
यदि आप अविवाहित हैं। आप की अब तक शादी नहीं हर्ुइ है, आप चाहते हैं कि आपकी शादी जल्दी हो जाए तो, वास्तु के अनुसार अपने कमरे की सजावट करें।
बच्चों के लिए-
बिच्चों के रूम में हल्के रंगो का इस्तेमाल होना चाहिए।
किमरों के परदे भी हल्के रंग जैसे क्रीम या बेबी पिंक के होना चाहिए।
पिढर्ई की टेबल उत्तर दिशा में होना चाहिए।
बेचलर्रस के लिए-
अिविवाहित युवाओं को कभी भी दरवाजे की ओर सिर या पैर करके नहीं सोना चाहिए।
ियदि शादी नहीं हो रही तो कमरे में कभी भी हरा पौधा या गुलदस्ता गलती से भी ना रखें क्योंकि फेंगशर्ुइ के अनुसार पौधों में लकडÞी तत्व होता है और वो येंग र्ऊजा का प्रतीक मानी जाती है। ये र्ऊजा शादी में रूकावट पैदा करती है।
यिुवाओं के लिए दक्षिण-पश्चिम कोने वाला कमरा सबसे अच्छा रहता है।
टिी.वी., रेडियो, कम्प्यूटर आदि भी शयनकक्ष में रखना फेंगशर्ुइ के अनुसार शुभ नहीं माना जाता है।
शादीशुदा लोगों के लिए-
निैऋत्य कोण में प्रेमी युगल का चित्र लगाएं। लव बर्डस का चित्र भी लगा सकते है।
शियन कक्ष में हल्के गुलाबी रंग के परदे लगाएं।
किमरे की दिवारों का रंग क्रीम या हल्का पिंक होना चाहिए।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz
%d bloggers like this: