बौद्ध भिक्षु तेंगा ने तिब्बत की अाजादी के लिए आत्मदाह किया।

२ दिसम्बर
सिचुआन प्रांत के गांजी तिब्बती स्वायत्त इलाके के गांव में बच्चों को पढ़ाने वाले बौद्ध भिक्षु तेंगा (63) ने रविवार को आत्मदाह किया।

बीजिंग, एएफपी। तिब्बत में चीन के कब्जे के विरोध में एक और बौद्ध भिक्षु ने आत्मदाह कर लिया है। खुद को जलाने की यह दर्दनाक घटना चीन के दक्षिण-पूर्वी प्रांत में हुई। तिब्बत की आजादी के लिए आंदोलन चलाने वाली संस्था के अनुसार चीनी कब्जे के विरोध में इस साल पांचवें व्यक्ति ने आत्मदाह किया है।

सिचुआन प्रांत के गांजी तिब्बती स्वायत्त इलाके के गांव में बच्चों को पढ़ाने वाले बौद्ध भिक्षु तेंगा (63) ने रविवार को आत्मदाह किया। तिब्बत पर चीनी कब्जे की बात कहकर वह बीते कई दिनों से परेशान थे, उसी दौरान उन्होंने घटना को अंजाम दिया। वाशिंगटन स्थित इंटरनेशनल कैंपेन फॉर तिब्बत के अनुसार सन 2009 से आत्मदाह करके मरने वाले तेंगा 151 वें शख्स थे। इसी साल गांजी निवासी वांग्चुक त्सेतेन ने भी आत्मदाह करके अपनी जान दी थी। वह भी तिब्बत की आजादी के पक्षधर थे।

चीनी प्रशासन के अधिकारियों ने आत्मदाह की किसी घटना की जानकारी होने से इन्कार किया है। लंदन स्थित तिब्बतियों की संस्था फ्री तिब्बत ने तेंगा के मित्र की ओर से तैयार एक वीडियो जारी किया है जिसमें बौद्ध भिक्षु को आत्मदाह करते समय तिब्बत की आजादी के लिए नारा लगाते हुए दिखाया और सुनाया गया है। इससे पहले बौद्ध भिक्षु ने शांति से प्रार्थना की थी। वीडियो में घटना के बाद पुलिसकर्मियों को भिक्षु तेंगा को कंबल में लपेटकर ले जाते हुए भी दिखाया गया है।

दैनिक जागरण से

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

avatar
  Subscribe  
Notify of
%d bloggers like this: