ब्लड क्यान्सर परीक्षण अब नेपाल में भी

राज  नारायण यादव ,४ पुस, काठमांडू । नेपाल में पहली बार ब्लड क्यान्सर पता लगानेवाली  नयाँ प्रविधि आने वाली  है  । काठमाडौं में वीर अस्पताल द्वारा ब्लड क्यान्सर एवं स्तन क्यान्सर है या नहीं पता लगाने वाली आधुनिक प्रविधि का मेशिन लाइ जायेगी  ।

अस्पताल द्वारा ‘जेनटिक मोलिक्युल’ युनिट रखने के बाद  क्यानसर का सम्भावना पता लगाने की  थप प्रविधि  लाने की तैयारी हो रही है ऐसा जानकारी  अस्पताल के जेनेटिक वैज्ञानिक  ने दिया है । उनके  अनुसार नयाँ प्रविधि आने के बाद  क्यान्सर रोग को पहचान के साथ  उपचार  भी  सहज तरीके से किया जायगा ।

वीर अस्पताल में अभी दो  हीं  जेनेटिक युनिट  है  । उस  युनिट से किसी भी  रोग को वंशाणुगत है या नहीं  पता लगायी जाती है  । वंशाणुगत रोग में  सिकलसेल एनिमिया, डीएनए, क्यान्सर, हेपाटाइटिस बी, हेपाटाइटिस सी लगायत अन्य पड़ते है  ।

अस्पताल के  योजना अनुसार  काम आगे बढे तो १ -२ दिन  के बाद ही  नयाँ प्रविधि से  क्यान्सर को सम्भाव्यता पता  किया जा सकता है  ।

blood-test

बहुत सारे  क्यान्सर  रोग में  ९५ प्रतिशत क्यान्सर  लगने के बाद  ठीक होने की  सम्भावना न्युन होते है । किसी भी रोगी में  क्यान्सर को मात्रा मापन  किया जाता है तो  चिकित्सकीय भाषा में उसे  फिलाडेल्पिमया  क्रोमोजोम टेस्ट कहा जाता है  ।

अस्पताल में  स्तन क्यान्सर को  जाँच के लिए  ‘हर्टोन्यू टेस्ट/जाँच भी शुरू हो चुका है ।उसी तरह अस्पताल ने फोक्सो में होनेवाली क्यान्सर को मापन ,जाँच और  उपचार प्रविधि  भी लाने की तैयारी कर चुकी है ऐसा जानकारी अस्पताल के  वैज्ञानिक ने दिया है  ।

अस्पताल के  जेनेटिक मोलिक्युल विभाग ने रोगी और रोग में आधारित  होकर  विभिन्न आणुवंशिक रोग को जाँच तथा अध्ययन को  व्यवस्थित करने में  निरन्तरता दिया जाएगा । अभी के  डेढ-दो वर्ष भीतर ये  सेवा सुरु करने के लिए  वीर अस्पताल  का  जेनेटिक मोलिक्युल विभाग ने  अष्ट्रेलिया का प्रोफेसर के साथ बातचीत भी हो रही है ऐसा जानकारी जेनेटिक वैज्ञानिक  ने दिया है  ।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz
%d bloggers like this: