भरतपुर मतगणना में किस कि क्या स्वार्थ, छानबीन टोली हुवा गठन


हिमालिनी डेस्क
काठमांडू, १ जून ।
चितवन की भरतपुुर महानगरपालिका की मतणना को रोकने के विरोध में एमाले के अवरोध के कारण संसद की कल की बैठक भी स्थगित हो गई ।

संसद बैठक को अवरुद्ध करने से पहले एमाले ने किसी भी हालत में भरतपुर में दोबारा मतदान न करने की अड़ान के मतगणना तुरंत शुरु न करने पर दूसरे चरण का चुनाव ही न होने देने की चेतावनी दी थी ।

संसद की बैठक को कल दोपहर १ बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया । भरतपुर महानगरपालिका की मतगणना के दौरान हुई मतपत्र फाड़ने की घटना की जाँच के लिए आयोग द्धारा गठीत छानबिन टोली ने आज निर्वाचन आयोग को अपनी रिपोर्ट पेश की है । ये जानकारी आयोग के प्रवक्ता सूर्यप्रसाद शर्मा ने दि ।

मतपत्र फाड़ने की घटना के बाद सोमवार को निर्वाचन आयोग ने सहन्यायाधीवक्ता गीताप्रसाद तिम्सिना के संयोजकत्व में गृहमन्त्रालय के सहसचिव महेश आचार्य और डी आई जी केदारमान सिंह सम्मिलीत छानबिन टोली गठीत की थी ।

loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz