भारतीय प्रधानमंत्री के आगमन पर विरोध नहीं स्वागत : नेकपा माओवादी

narendra-modi-537a5f4c6d08f_exlश्वेता दीप्ति, काठमान्डौ, १२ गते । नेकपा माओवादी के उपाध्यक्ष सीपी गजुरेल ने स्पष्ट किया है कि भारतीय प्रधानमंत्री के नेपाल आगमन पर उनकी पार्टी विरोध नहीं करेगी । रिपोर्टर्स क्लब द्वारा आयोजित साक्षात्कर में उन्होंने स्पष्ट किया कि वो भारतीय विदेशमंत्री से वार्ता के इच्छुक थे किन्तु यह हो नहीं पाया । उन्होंने कहाकि आश्चर्य है कि भारतीय विदेशमंत्री ने उनसे वार्ता क्यों नहीं की । उन्होंने इस बात पर बल दिया कि भारतीय प्रधानमंत्री के आने पर हमने कोई विरोध कार्यक्रम नहीं रखा है और न हीं रखेंगे । पशुपति नाथ के दर्शन के लिए आनेवाले भारतीय प्रधानमंत्री का विरोध नहीं हम स्वागत करेंगे । हम भारत विरोधी नहीं हैं और हमें भारत विरोधी कह कर प्रचार भी नहीं किया जाय यह उनका आग्रह था । गजुरेल ने माना कि कुछ मुद्दों पर हमारी असहमति हो सकती है पर हम भारत विरोधी नहीं हैं । नेपाली की समस्याएँ दूर हों हम भी यही चाहते हैं पर पानी विद्युत पर नेपाल का अधिकार हो हम यही चाहते हैं । इस संविधान सभा से संविधान नहीं बन सकता यह बात भी उन्होंने स्पष्ट किया ।
क्लब के अध्यक्ष ऋषि धमला ने कहा, कि मोदी भ्रमण का स्वागत है और नेपाल के विकास के लिए नेपाल भारत के बीच सहकार्य आवश्यक है । भारतीय प्रधानमंत्री ने नेपाल को उच्च प्राथमिकता दिया है इसलिए नेपाल के राजनीतिक दलों को एक स्पष्ट खाका मोदी के समक्ष रखना चाहिए । उर्जा सहमति में नेपाल को पहल करना चाहिए आखिर हम कबत क अँधेरे में रहने के लिए बाध्य हों ।
मोदी के समक्ष नेपाल अपने तीन महत्वपूर्ण प्रस्ताव रखने की तैयारी में है । उर्जामंत्री ज्ञवाली के अनुसार नेपाल की तरफ से विद्युत समझौता, लम्की रायबरेली ट्रांसमिशन और तमोर जलविद्युत आयोजना का प्रस्ताव रखा जाएगा । उनके अनुसार सभी पक्ष में मोदी आगमन से पहले सहमति हो जाएगी । वातावरण सकारात्मक है और आशा है कि मोदी भ्रमण में ही समझौता हो
मोदी भ्रमण को सफल बनाने के लिए तीनों दलों में सहमति की भी खबर आ रही है । यह एक सकारात्मक पक्ष है । कल अच्छा होगा शायद यह आशा की जा सकती है ।

 

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz