भारतीय राजदूत को देश निकाला करने की कोई योजना नहीं, सरकार हुई सचेत

काठमांडू ,९ मई |ranjit-ray.png22

देर से ही सही नेपाल सरकार एक खतरनाक एवं अशुभ कदम लेने से सतर्क हो गयी है | नेपाल के उप प्रधानमन्त्री तथा विदेश मंत्री कमल थापाजी ने स्पष्टोक्ती दी है कि भारतीय राजदूत को देश निकाला करने की उनकी सरकार की कोई योजना नहीं है | उन्होंने ट्वीट Tweet के माध्यम से अपनी चुप्पी तोड़ी है |  दो दिनों से नेपाली मिडिया में यह आशंका जताई जा रही थी की सरकार अब  राजदूत निकलने का कठोर कदम लेने जा रही है | उन्होंने मिडिया पर समाचार को अतिरंजित करके प्रकाशित करने का आरोप भी लगाया है |

12h12 hours ago Nepal

Some media speculations regarding Nepal govt mulling expulsion of Indian Ambassador Ray is baseless n aimed at damaging Nepal-India relation.

 

please read detail http://www.himalini.com/%E0%A4%87%E0%A4%B8%E0%A4%AC%E0%A4%BE%E0%A4%B0-%E0%A4%A8%E0%A4%BF%E0%A4%B6%E0%A4%BE%E0%A4%A8%E0%A4%BE-%E0%A4%AD%E0%A4%BE%E0%A4%B0%E0%A4%A4%E0%A5%80%E0%A4%AF-%E0%A4%B0%E0%A4%BE%E0%A4%9C%E0%A4%A6.html

इसबार निशाना भारतीय राजदूत

ओली सरकार ने अब एक गम्भीर और खतरनाक निर्णय करने का विचार कर रहा है | जिसे कहा जा सकता है कि विनाशकाले विपरित बुद्धि | इस बार वे भारतीय राजदूत को वापस पठाने पर विचार कररहे हैं \ इस सम्बन्ध में उन्होंने एटर्नी जेनरल को कल्ह वुलाया था जिसमे उन्हें सल्लाह दिया गया कि भियेना सम्मेलन का उलंघन का आरोप लगाकर यह कदम उठाया जा सकता है |

ranjit-ray.png22

इस पर दिल्ली से प्रकाशित होनेवाली हिंदुस्तान टाइम्स के एसोसियेट सम्पादक प्रशांत झा ने ट्विटर के मर्फत कहा है कि

 

 
 
 
 
 
Loading...
%d bloggers like this: