Sat. Sep 22nd, 2018

भारतीय राजदूत को देश निकाला करने की कोई योजना नहीं, सरकार हुई सचेत

काठमांडू ,९ मई |ranjit-ray.png22

देर से ही सही नेपाल सरकार एक खतरनाक एवं अशुभ कदम लेने से सतर्क हो गयी है | नेपाल के उप प्रधानमन्त्री तथा विदेश मंत्री कमल थापाजी ने स्पष्टोक्ती दी है कि भारतीय राजदूत को देश निकाला करने की उनकी सरकार की कोई योजना नहीं है | उन्होंने ट्वीट Tweet के माध्यम से अपनी चुप्पी तोड़ी है |  दो दिनों से नेपाली मिडिया में यह आशंका जताई जा रही थी की सरकार अब  राजदूत निकलने का कठोर कदम लेने जा रही है | उन्होंने मिडिया पर समाचार को अतिरंजित करके प्रकाशित करने का आरोप भी लगाया है |

12h12 hours ago Nepal

Some media speculations regarding Nepal govt mulling expulsion of Indian Ambassador Ray is baseless n aimed at damaging Nepal-India relation.

 

please read detail http://www.himalini.com/%E0%A4%87%E0%A4%B8%E0%A4%AC%E0%A4%BE%E0%A4%B0-%E0%A4%A8%E0%A4%BF%E0%A4%B6%E0%A4%BE%E0%A4%A8%E0%A4%BE-%E0%A4%AD%E0%A4%BE%E0%A4%B0%E0%A4%A4%E0%A5%80%E0%A4%AF-%E0%A4%B0%E0%A4%BE%E0%A4%9C%E0%A4%A6.html

इसबार निशाना भारतीय राजदूत

ओली सरकार ने अब एक गम्भीर और खतरनाक निर्णय करने का विचार कर रहा है | जिसे कहा जा सकता है कि विनाशकाले विपरित बुद्धि | इस बार वे भारतीय राजदूत को वापस पठाने पर विचार कररहे हैं \ इस सम्बन्ध में उन्होंने एटर्नी जेनरल को कल्ह वुलाया था जिसमे उन्हें सल्लाह दिया गया कि भियेना सम्मेलन का उलंघन का आरोप लगाकर यह कदम उठाया जा सकता है |

ranjit-ray.png22

इस पर दिल्ली से प्रकाशित होनेवाली हिंदुस्तान टाइम्स के एसोसियेट सम्पादक प्रशांत झा ने ट्विटर के मर्फत कहा है कि

 

 
 
 
 
 
आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.