भारत अाैर अमेरिका के साथ हाे सकता है व्यापारिक युद्ध : चीन

१४ अगस्त

गतिरोध पैदा करने के अपने स्वभाव के चलते चीन के दूसरे देशों के साथ व्यापार पर खतरे के बादल छाने लगे हैं। चीन के सरकारी मीडिया ने भारत और अमेरिका के साथ व्यापार युद्ध की आशंका जता दी है। डोकलाम गतिरोध के बीच भारत ने चीन से आने वाले 93 उत्पादों पर एंटी डंपिंग ड्यूटी लगा दी है। जबकि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चीन के उत्पादों की निर्माण प्रक्रिया की जांच के आदेश दिये हैं।

ग्लोबल टाइम्स ने अपनी रिपोर्ट में चीनी कंपनियों से अनुरोध किया है कि वे नुकसान का आकलन करें। साथ ही भारत को इस कदम के दुष्परिणामों को लेकर चेतावनी दी है। लिखा है कि चीन इसका बड़ी आसानी से भारत को जवाब दे सकता है लेकिन इस सबका का खास असर आर्थिक स्थिति पर नहीं पड़ेगा।

रिपोर्ट में भारतीय दूतावास के व्यापार आंकड़े का उल्लेख किया गया है जिसके अनुसार चीन को होने वाले भारतीय निर्यात में गिरावट आ रही है। यह 11.75 अरब डॉलर (75 हजार करोड़ रुपये) पर आ गया है। जबकि चीन से भारत को होने वाला सामान का निर्यात हर साल दो प्रतिशत की बढ़ोत्तरी के साथ बढ़ रहा है। इस समय चीन भारत को 59 अरब डॉलर (3 लाख 75 हजार करोड़ रुपये) के माल का निर्यात कर रहा है।

दोनों देशों के बीच व्यापार का अंतर 47 अरब डॉलर का है। भारतीय वाणिज्य मंत्रालय के अनुसार बीते वित्त वर्ष में चीन के साथ भारत के व्यापार का अंतर (घाटा) 52 अरब डॉलर (3.33 लाख करोड़ रुपये) का था। रिपोर्ट में लिखा गया है कि भारत ने चीन के साथ व्यापार युद्ध छेड़ दिया है। एंटी डंपिंग ड्यूटी लगाकर वह चीन को आर्थिक नुकसान पहुंचाना चाहता है लेकिन इसका दुष्परिणाम उसे भी झेलना पड़ेगा।

एक अन्य अखबार चाइना डेली ने अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप पर व्यापार युद्ध छेड़ने का आरोप लगाते हुए उन्हें भविष्य के खतरे से आगाह किया है। ट्रंप ने चीनी कंपनियों पर अमेरिकी तकनीक चुराकर नकली उत्पाद तैयार करने के आरोप की जांच का आदेश दिया है। साथ ही एजेंसियों से कहा गया है कि वे उत्पादों के निर्माण में बंधुआ मजदूरों के इस्तेमाल की भी जांच करें।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

avatar
  Subscribe  
Notify of
%d bloggers like this: