भारत–नेपाल सांस्कृतिक समन्वय संगोष्ठी का आयोजन

for-rajendra-mahatoo
काठमांडू, दिसंबर २७ । विनोदकुमार विश्वकर्मा ‘विमल’
अंतर्राष्ट्रीय समरसता मंच, जयपुर (राजस्थान) के तत्वावधान में २६ दिसंबर को काठमांडू स्थित रसियन कल्चर सेन्टर के सभागार में ‘भारत–नेपाल सांस्कृतिक समन्वय संगोष्ठी’ का आयोजन किया गया ।
संगोष्ठी में पूर्वमन्त्री तथा सद्भावना पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेन्द्र महतो ने कहा कि नेपाल और भारत के बीच सिर्फ रोटी–बेटी का संबंध ही नहीं, बल्कि प्राकृतिक सम्बन्ध भी है । इस संबंध को कोई तोड़ नहीं सकता है । नेपाल के हर क्षेत्रों में भारत का बहुत बड़ा सहयोग रहा है और यह आगामी दिनों में भी पूर्ण सहयोग रहेगा ।
राजस्थान सरकार के मन्त्री हरिश कुमावत ने कहा कि नेपाल व भारत की संस्कृति एवं सभ्यता एक समान हैं । दोनों देशों की जनता भी एक समान हैं । इसलिए इन दोनों के बीच सदा के लिए एकता बना रहे, यही मेरी मंगल कामना है ।
मंच के अन्तर्राष्ट्रीय संयोजक महावीर प्रसाद टोरड़ी ने नेपाल व भारत की संस्कृति एवं सभ्यता को अन्तर्राष्ट्रीय स्तर में उजागर करने की दृष्टि से इस संगोष्ठी का आयोजन करने की जानकारी दी ।
मौके पर जापान के लिए पूर्व नेपाली राजदूत विष्णुहरि नेपाल ने बताया कि हमारी संस्कृति, सभ्यता, भाषा समान है । इसी प्रकार हमारा भूगोल और इतिहास भी समान है । अंतर्राष्ट्रीय समरसता मंच हमारी संस्कृति, सभ्यता, भाषा को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उजागर करने का जो कदम उठाया है, वह सराहनीय है । इसके लिए हम सदैव साथ रहेंगे ।
प्रेस काउंसिल नेपाल के अध्यक्ष वोर्णबहादुर कार्की ने कहा कि नेपाल और भारत की संस्कृति और सभ्यता तथा संबंधों को और प्रगाढ़ व स्नेहशील बनाने में यह संगोष्ठी कारगार सिद्ध होगी, ऐसी उम्मीद हम करते हैं ।
इतिहासविद् प्रा.डॉ. सुरेन्द्र के.सी. ने जानकारी दी कि नेपाल व भारत के बीच के संबंधों को और मजबूत बनाने के लिए सामूहिक रुप से आगे बढ़ने की आवश्यकता है ।
अंतर्राष्ट्रीय समरसता मंच सन् १९९८ में राजस्थान में स्थापना हुई है । और यह सामाजिक, सांस्कृतिक, शैक्षिक आदि क्षेत्रों में राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय स्तरों में काम करती आ रही है ।
अवसर पर भारत व नेपाल के ५ दर्जन से अधिक समाजसेवी, बुद्धिजीवी, प्राध्यापक, वकील, पत्रकार आदि प्रतिभाओं को भी सम्मानित किया गया । सम्मानित व्यक्तित्व को प्रमाणपत्र, मेडल व शॉल ओढ़ाकर सम्मान किया गया ।
सम्मानित व्यक्तित्व भारत के जयपुर, मुंबई, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड और नेपाल से काठमांडू एवं ग्रामीण क्षेत्रों की प्रतिभाओं की भागीदारी थीं । मौके पर राजनीतिक दलों के सदस्य, विभिन्न संस्थाओं के प्रतिनिधि, हिमालिनी के प्रबन्ध निर्देशक सच्चिदानन्द मिश्रा एवं मीडिया कर्मी की भी उपस्थिति थी ।
कार्यक्रम की अध्यक्षता मंच के अध्यक्ष महावीर प्रसाद टोरड़ी ने की । मंच संचालन विनोद कुमार विश्वकर्मा ‘विमल’ ने किया तथा आभार ज्ञापन महावीर प्रसाद टोरड़ी ने किया ।
mahila-samman-2
Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz